फेसबुक और गूगल भी टैक्स के दायरे में

0

भारत सरकार अब फेसबुक और गूगल जैसी दिग्गज कंपनियों से भी टैक्स वसूलने की तैयारी कर चुकी है। भारत में फेसबुक और गूगल जैसी कंपनियों के 20 करोड़ उपयोगकर्ता हैं। दोनों ही कंपनियों के लिए भारत सबसे बड़ा यूज़र बेस है। दोनों ही दिग्गज कंपनियां भारत से खूब पैसा कमा रही हैं, लेकिन भारत के टैक्स अधिकार क्षेत्र से बाहर रहकर काम कर रही हैं। अब फेसबुक और गूगल को अपना डेटा भारत में स्टोर करना होगा। सरकार का उद्देश्य सिर्फ डेटा को सुरक्षित रखना ही नहीं बल्कि यह सुनिश्चित करना भी है कि विदेशी कंपनियां यहां से अर्जित कमाई पर टैक्स भी चुकाएं। यह जानकारी एक वरिष्ठ अधिकारी ने ईटी को दी है।

अधिकारी ने जानकारी दी कि विदेशी कंपनियां अधिकतर सेवाएं विदेशों से ही दे रही हैं इसलिए टैक्स चुकाने से बच जाती हैं। गौरतलब है कि भारत सरकार सिर्फ उन्हीं कंपनियों से टैक्स वसूल कर सकती हैं, जो कम्पनी भारत में मौजूद हो। अधिकारी ने कहा कि जब आप (भारतीय यूज़र) फेसबुक या गूगल पर साइन अप करते हैं तो आपका कॉन्ट्रैक्ट उनके भारतीय ऑफिस के साथ नहीं होता, इसलिए मेरी समझ में कुछ और भी कारण हैं, लेकिन लोकल सर्वर पर डेटा स्टोर होने से टैक्सेशन और रेवेन्यू में मदद मिलेगी।

इसके बाद सरकारी अधिकारी ने आगे कहा कि कोई यह कह सकता है कि सरकार को फेसबुक से कमाई नहीं करनी चाहिए, लेकिन हम इस बात से इनकार नहीं कर सकते हैं कि वह बहुत पैसा बना रहे हैं। यदि किसी भारतीय कंपनी ने ऑनलाइन या ऑफलाइन कारोबार से इतनी कमाई की होती तो उन्हें बहुत टैक्स देना पड़ता… तो फिर उन्हें क्यों छोड़ दिया जाए।

फेसबुक पर सभी की गोपनीय जानकारी उजागर

धमाके की धमकी से फेसबुक में खलबली

अब फेसबुक से होगी आपकी कमाई

Share.