OMG : ऑनलाइन शॉपिंग साइट्स की हुई छुट्टी

0

अगर आप भी ऑनलाइन शॉपिंग के दीवाने हैं और ऑनलाइन शॉपिंग करने के लिए ई-कॉमर्स कंपनियों पर बड़े शॉपिंग सेल्स और शॉपिंग फेस्टिवल का इंतजार करते हैं, तो आपके लिए एक बुरी खबर है। भारत सरकार ने 1 फ़रवरी से ऑनलाइन सेल को लेकर नए नियम लागू कर दिए हैं। इन नए नियमों के कारण ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी अमेजन ने अपने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से, ईको स्पीकर्स, बैटरी और फ्लोर क्लीनर सहित कई उत्पाद हटा लिए हैं।

गौरतलब है कि नए नियम 1 फ़रवरी यानी शुक्रवार से लागू किए गए हैं। इससे पहले गुरुवार 31 जनवरी की रात से ही अमेजन इंडिया ने अपनी वेबसाइट से क्लाउडटेल जैसे सेलर्स द्वारा बेचे जाने वाले कई उत्पाद हटा लिए हैं। इन सेलर्स द्वारा बेचे जाने वाले आइटम्स पर अमेजन अप्रत्यक्ष इक्विटी हिस्सेदारी रखता है, लेकिन अब यह प्रोडक्ट्स अमेजन पर उपलब्ध नहीं होंगे। इसके अलावा अमेजन ने भारतीय डिपार्टमेंटल स्टोर शॉपर्स स्टॉप (Shopper’s Stop) के कपड़ों से भी किनारा कर लिया है। अमेजन की शॉपर्स स्टॉप कम्पनी में भी 5 प्रतिशत की हिस्सेदारी थी। इन सभी उत्पादों के अलावा अमेजन ने खुद के ईको स्पीकर्स, घर की सफाई के सामान और कई अन्य सामान्य उत्पाद भी वेबसाइट से हटा दिए हैं।

दरअसल भारत सरकार ने अपने प्रावधानों को प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) वाली ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए सख्त कर दिया है। भारत सरकार के नए नियमों के अनुसार फ्लिपकार्ट और अमेज़न जैसी ई-कॉमर्स कंपनियां, अब उन कंपनियों के उत्पाद को अपनी वेबसाइट पर नहीं बेच सकती, जिसमे इन ई-कॉमर्स कंपनियों की हिस्सेदारी हो। छोटे व्यापारियों की शिकायत पर केंद्र सरकार ने इन ऑनलाइन शॉपिंग वाली कंपनियों के उन कॉन्ट्रैक्ट पर भी रोक लगा दी है, जो प्रोडक्ट्स की कीमतों पर असर डालते हैं। अब ऐसे में ऑनलाइन कंपनियां किसी भी यूनिट के प्रोडक्ट्स को सिर्फ अपनी ही वेबसाइट पर नहीं बेच पाएंगी।

Share.