इन तरीकों से करें अपना ITR वेरिफिकेशन

0

इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) भरने की प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है। इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तारिख 31 जुलाई है। अगर आपने अभी तक अपना इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) दाखिल नहीं किया है तो आपके पास इस महीना का समय है। हालांकि इस तिथि को आगे भी बढ़ाया जा सकता है। आयकर रिटर्न दाखिल करने के बाद करदाता को इसका वैरिफिकेशन करना भी अनिवार्य है। यदि कोई करदाता अपने इनकम टैक्स रिटर्न का वेरिफिकेशन नहीं करता तो उसे वैध नहीं माना जाता है। इसलिए आप दाखिल किए इनकम टैक्स रिटर्न को वेरिफाई जरूर कर लें। आज हम आपको बता रहे हैं कि आप किन-किन तरीकों से अपना इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) वेरिफाई कर सकते हैं।

अब बैंक रोजाना देगा 100 रुपए, RBI ने जारी किया आदेश

टैक्स सलाहकार के अनुसार जो करदाता आईटीआर-1, आईटीआर-2 और आईटीआर-4 भरता है उसे 120 दिन के अंदर वेरिफिकेशन करना जरूरी होता है। इसके लिए सबसे जरूरी है कि करदाता का पैन कार्ड उसके आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए। बिना आधार से पैन कार्ड को जोड़े कोई भी करदाता रिटर्न दाखिल नहीं कर सकता। जब आप अपना रिटर्न जमा कर देते हैं तो फिर इसके बाद आपको आयकर विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। यहां आप माई अकॉउंट पर जाएं। यहां आपको ई-वैरिफाई रिटर्न का विकल्प मिल जाएगा।

क्या सच में महंगा हो गया है Paytm से पेमेंट करना? जाने सच

इस विकल्प पर क्लिक करने पर आपको आधार ओटीपी (Aadhar OTP) के माध्यम से अपने रिटर्न को वेरिफाई करना होगा। जैसे ही आप इस विकल्प को चुनेंगे तो आपको 6 अंकों का एक OTP प्राप्त होगा जिसे यहां प्रविष्ट करना होगा। OTP डाल कर सबमिट करने पर आपका रिटर्न वेरिफाई हो जाएगा।

नेटबैंकिंग के माध्यम से भी आप अपना रिटर्न वेरिफाई कर सकते हैं। लेकिन इसमें आपको यह बात ध्यान में रखनी होगी कि यह सुविधा केवल कुछ ही बैंकों के लिए उपलब्ध है।

धन की बचत करने के बेहद ही सरल उपाय

इसके अलावा आप अपने बैंक खाते से भी अपना रिटर्न वेरिफाई कर सकते हैं। इसके लिए आपका पैन कार्ड उसी नाम से होना चाहिए जिस नाम से बैंक में खाता हो।

Share.