OMG : बंद हुए 10 हजार ATM

0

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा जो वार्षिक रिपोर्ट (Reserve Bank of India Annual Report 2018) जारी की गई है, उसके अनुसार एक साल के दौरान एटीएम कार्डों की संख्या में 10 हजार तक की कमी आई है। वहीं बैंकों की शाखाओं में लगे एटीएम की संख्या 1.09 लाख से घटकर 1.06 लाख रह गई है। हालांकि शाखाओं के आलावा अन्य जगहों पर लगाए गए एटीएम की संख्या में इजाफा हुआ है। इनकी संख्या 98,545 से बढ़कर 1 लाख हो गई है।

वित्त वर्ष 2017-18 की वार्षिक रिपोर्ट (Reserve Bank of India Annual Report 2018) में आरबीआई ने कहा कि इस साल सरकारी बैंकों के एटीएम की संख्या 1.48 लाख से कम होकर 1.45 लाख पर आ गयी है जबकि निजी बैंकों के एटीएम की संख्या 58,833 से बढ़कर 60,145 पर पहुंच गयी है। आरबीआई ने कहा कि प्रस्तुत किए आकड़ों में छोटे वित्तीय बैंकों और भुगतान बैंकों के एटीएम शामिल नहीं किए गए हैं। डिजिटल तरीके के इस्तेमाल में वृद्धि होने से एटीएम कार्डों की संख्या में कमी आई है।

रिपोर्ट (Reserve Bank of India Annual Report 2018) में खुलासा किया गया है कि वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान एकीकृत भुगतान इंटरफेस (यूपीआई) के माध्यम से कुल 1,090 अरब रुपए के 91.5 करोड़ लेन-देन हुए हैं। रिपोर्ट में बताया गया है कि वित्त वर्ष 2018-19 की अर्धवार्षिक रिपोर्ट में यह लेन-देन बढ़कर 157.9 करोड़ हो गए हैं। इस दौरान एकीकृत भुगतान इंटरफेस के माध्यम से 2,670 अरब रुपए का लेन-देन हुआ। आरबीआई ने कहा कि एटीएम कार्डों में कमी आने की मुख्य वजह डिजिटल पेमेंट है। डिजिटल पेमेंट में अचानक हुई वृद्धि से लोग अब अपने अधिकतर भुगतान ऑनलाइन ही करते हैं।

नए साल से 15 लाख का नया नियम

TRAI ने दी उपभोक्ताओं को खुशखबरी

बुजुर्गों और महिलाओं के लिए खुशखबरी

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.