देश में 6 लाख नई नौकरियां

0

केंद्र सरकार रोजगार के मुद्दे पर लगातार निशाने पर रही है| प्रधानमंत्री को देश के युवाओं को रोजगार नहीं दिला पाने के लिए हमेशा घेरा जाता रहा है| ऐसे में मोदी सरकार के लिए एक अच्छी खबर है| पिछले 6 महीने (फरवरी तक) में करीब 22 लाख नई संगठित नौकरियां तैयार हुई हैं| यह संकेत मिले हैं कि भविष्य निधि संगठन (EPFO) और नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) की ओर से जारी किए गए पेरोल डाटा से|

ईपीएफओ की ओर से जारी डाटा के मुताबिक, पिछले 6 महीनों के दौरान कुल 31 लाख लोगों ने संगठन के साथ खाता खोला| इनमें से 18 से 25 साल की उम्र के सब्सक्राइबर्स को नई नौकरी ज्वाइन करने वालों के तौर पर गिना गया| इनकी कुल संख्या 18.5 लाख है| विशेषज्ञों का कहना है कि 18 से 25 साल की उम्र वालों को अलग कर दें और सिर्फ इससे ज्यादा उम्र वालों के फंड से जुड़ने को देखा जाए तो इससे पता चलता है कि अर्थव्यवस्था का काफी हिस्सा धीरे-धीरे संगठित होता जा रहा है|

नेशनल पेंशन सिस्टम के अनुसार,  6 महीनों के दौरान केंद्रीय और सरकारी क्षेत्र से 3 लाख 50 हजार लोगों ने नए खाते खोले| इस डाटा को मिलाने के बाद कुल नए रोजगार की संख्या 22 लाख के करीब पहुंच जाती है|

Share.