200 कामोव हेलिकॉप्टर के सौदे पर मंजूरी

0

भारत को रूस से जल्द ही सौगात मिलने वाली है, जिसके लिए समझौते पर मंजूरी भी मिल गई है|  अब इस समझौते को अक्टूबर में अंतिम रूप दिया जा सकता है|

बताया जा रहा है कि रशियन हेलीकॉप्टर्स और भारत की सरकारी कंपनी हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के बीच एक संयुक्त उपक्रम होने वाला है| इसके लिए भारत सहित रूस के अधिकारियों ने भी तैयारियां कर ली है|

इस करार पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2015 में मास्को यात्रा के दौरान हस्ताक्षर किए थे| इसके अंतर्गत हेलीकॉप्टर का विनिर्माण किया जाएगा| ये हेलीकॉप्टर भारत में चीता और चेतक हेलीकॉप्टरों की जगह लेंगे, जो पुराने हो गए हैं| कामोव-226टी कार्यक्रम के निदेशक दिमित्री श्वेट्स ने बताया, “यह परियोजना एक अंतर-सरकारी समझौते के आधार पर लागू की जाएगी| इसके अंतर्गत रूसी पक्ष ने प्रौद्योगिकी हस्तांतरण और ग्राहक देश (भारत) में इसके स्थानीकरण के उच्चतम संभव स्तर की उपलब्धि का दायित्व उठाया है|”

Share.