X

चूड़ियां पहनने से शरीर को मिलती है शक्ति

0

795 views

प्राचीनकाल से ही स्त्रियां चूड़ियां पहनती आ रही हैं| यह सोलह श्रृंगार में से एक है और सुहागन होने का प्रतीक भी मानी जाती हैं|प्राचीन मान्यताओं के अनुसार, जो महिलाएं चूड़ियां पहनती हैं, उनके पति की आयु लंबी होती है। इन सबके साथ-साथ चूड़ियां स्वास्थ्य की दृष्टि से भी अत्यंत लाभप्रद सिद्ध हुई हैं| आज हम आपको चूड़ी पहनने के कई लाभों के बारे में बताने जा रहे हैं|

चूड़ियां पहनने से शरीर को कई लाभ होते हैं| चूड़ियां पहनने से होने वाले लाभ चूड़ियों में प्रयुक्त धातु, चूड़ियों की संख्या, चूड़ियों के रंग आदि पर निर्भर करते हैं|

धार्मिक मान्यता के अनुसार, कांच की चूड़ियां सात्विक होती हैं और उन्हें पहनने से महिला के पति तथा पुत्र का स्वास्थ्य अच्छा रहता है| वहीं, विज्ञान का मानना है कि कांच की चूड़ियों की ध्वनि से वातावरण में उपस्थित नकारात्मक ऊर्जा नष्ट होती है और सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है|

महिलाओं के हाथ कोमल होते हैं और चूड़ियां पहनने से शारीरिक रूप से शक्ति प्राप्त होती है| उन्हें कमजोरी और शारीरिक शक्ति का अभाव महसूस नहीं होता|

प्राचीनकाल में महिलाएं धातुओं से बनी चूड़ियां पहनती थीं| धातुओं के संपर्क में रहने से धातुओं के गुण शरीर को प्राप्त होते रहते हैं और हड्डियां मजबूत होती हैं|

धातु का महिला के स्वास्थ्य के साथ-साथ उसके आसपास के वातावरण पर भी समान प्रभाव पड़ता है| कहा जाता है कि प्लास्टिक की चूड़ियां पहनने से महिलाएं बीमार होती हैं| प्लास्टिक वातावरण में से नकारात्मक ऊर्जा अपनी ओर खींचता हैं, जिसका प्रभाव महिलाओं के शरीर पर पड़ता है|

विज्ञान का भी मानना है कि जब महिलाएं अपने दोनों हाथों में अधिक संख्या में चूड़ियां पहनती हैं तो इससे एक विशेष ऊर्जा उत्पन्न होती है| अधिक चूड़ियां पहनने से मानसिक एवं शारीरिक शक्ति का संचार होता है|

विज्ञान का मानना है कि जब महिला के आसपास के वातावरण में साधारण से अत्यंत अधिक नकारात्मक ऊर्जा हो जाती है तो वह उस महिला को घेरने लगती है और सर्वप्रथम उसकी चूड़ियों पर प्रहार करती है| यह नकारात्मक ऊर्जा चूड़ियों के भीतर प्रविष्ट होकर धीरे-धीरे उन्हें नष्ट करने लगती है इसलिए कहा जाता है कि चूड़ियां टूटना अच्छा शगुन नहीं होता है|

Share.
42