share your views
share your Comments

बजट से आम आदमी की जेब पर असर…

1

2,682 views

केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने वित्तीय वर्ष 2018-19 का बजट पेश किया| इस बजट में वे किसानों, गरीबों, व्यवसायियों और महिलाओं को खुश करते नजर आए, लेकिन वे मध्यम वर्ग को भूल गए| इस बजट के बाद भी कई वस्तुएं सस्ती और कई चीजें महंगी हुई हैं| आइए जानते हैं बजट का आम आदमी की जेब पर क्या असर हुआ है| क्या सस्ता और क्या महंगा हुआ है|

ये हुआ महंगा 

विदेशों से मंगाई जाने वाली वस्तुएं महंगी हुई हैं| इसमें विदेशी मोबाइल, लैपटॉप, इलेक्ट्रॉनिक्स और फूड प्रोसेसर पर 5 प्रतिशत की कस्टम ड्यूटी बढ़ाई गई है| इनके अलावा कारें, मोटरसाइकिलें, फ्रूट जूस, परफ्यूम, जूते-चप्पल, चांदी और सोना, सब्जियां, सनस्क्रीन, सनटैन, मैनीक्योर, पैडिक्योर का सामान, डेंचर फिक्सेटिव पेस्ट और पाउडर, डेंटल फ्लॉस, शेविंग से पहले और बाद में इस्तेमाल की जाने वाली प्रसाधन सामग्रियां, डियोडोरंट, स्नान का सामान, परफ्यूम वाले स्केंट स्प्रे आदि भी महंगे हुए हैं|

इसी प्रकार टॉयलेट स्प्रे, ट्रक और बसों के रेडियल टायर, सिगरेट और अन्य लाइटर, आउटडोर खेलों, स्वीमिंग पूल में इस्तेमाल होने वाले उपकरण, फर्नीचर, गद्दे, लैंप, हाथ और पॉकेट घड़ियां, ट्राइसाइकिल, स्कूटर, पेडल कार, पहिए वाले खिलौने, गुड़िया, कृत्रिम आभूषण स्मार्ट घड़ियां-वियरएबल उपकरण, रेशमी कपड़े, हीरे आदि भी महंगे हुए हैं| 31 जनवरी 2018 के बाद खरीदे शेयर पर 10 प्रतिशत का कर लगाया जाएगा| मेडिकल बिल पर मिलने वाली 15 हजार की छूट को भी हटाया गया है|

यह हुआ सस्ता

छिलके सहित काजू नट, सौर टेंपर्ड शीशे, कॉक्लिअर इम्प्लांट, कच्चा माल, ऐसेसरीज, ई-टिकट पर से सर्विस टैक्स कम किया गया, अप्रसंस्कृत काजू, देश में तैयार हीरे, प्रिपेयर्ड लेदर, सिल्वर फॉइल, पीओसी मशीनें, फिंगर स्कैनर, माइक्रो एटीएम, आइरिस स्कैनर, सौर बैटरी |

Share.
31