पार्टी से अलग होकर नहीं लडूंगा – आहूजा

0

चुनाव नजदीक आते जहां रहे,वहीं भाजपा की राजस्थान में मुसीबत कम होने का नाम नहीं ले रही। भाजपा के दिग्गज नेता धनश्याम तिवाड़ी ने हाल ही में भाजपा का दामन छोड़, अपनी पार्टी बना ली है। इसबीच एक पार्टी के नेता ने भाजपा के लिए अपना प्रेम जाहिर किया। विधायक ने भाजपा के प्रति अपना अपार भक्ति दर्शायी।

अक्सर अपने विवादित बयानों से चर्चित रामगढ़ से विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने कहा कि पार्टी मुझे आने वाले विधानसभा में टिकट नहीं दे, फिर भी वह पार्टी से अलग होकर चुनाव नहीं लड़ेंगे। पिंकसिटी प्रेस क्लब में आयोजित पत्रकार वर्ता में ज्ञानदेव आहूजा ने कहा कि उन्हें किसी पद का लालच नहीं है, ना मंत्री बनना है, ना कोई बड़ा पद चाहिए। भाजपा ने मुझे हमेशा सम्मान दिया है।

उन्होंने कहा कि वे घनश्याम तिवाडी की तरह नहीं है कि भाजपा से इस्तीफा दें और नयी पार्टी बनाकर लड़े। वह अपनी पार्टी के प्रति ईमानदार है। अपने विवादित बयानों पर पूछे गए सवाल पर आहूजा ने कुछ भी कहने से मना कर दिया। अलवर लोकसभा सीट पर उपचुनाव हारने पर आहूजा ने कहा कि उपचुनाव की हार पार्टी की नहीं बल्कि प्रत्याशी की व्यक्तिगत हार थी। यदि मुझे टिकट मिलता तो स्थिति अलग होती।

Share.