वसुंधरा ने बदला अपनी यात्रा का नाम…

2

भाजपा ने राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए अपनी कमर कस ली है। इस बीच भाजपा प्रदेश में 4 अगस्त से सुराज गौरव यात्रा शुरू करने जा रही है, जिसके तहत सीएम वसुंधराराजे पूरे प्रदेश में यात्रा कर जनता की समस्याएं जानेंगी। यात्रा शुरू होने से पहले ही भाजपा ने अब इसका नाम बदलकर राजस्थान गौरव दिया है।

हाल ही में अलवर में मॉब लिंचिंग होने के बाद सरकार सीधे तौर पर निशाने पर आ गई। इस घटना के बाद सरकार की किरकिरी हुई है। कहा जा रहा है कि इसी वजह से सरकार ने अंतिम समय में यात्रा का नाम सुराज से बदलकर राजस्थान गौरव कर दिया। साथ ही पार्टी के जानकारों का कहना है कि भाजपा हमेशा आदर्शवादी वाक्यों को अपनाकर आगे बढ़ती रही है।

बता दें कि भाजपा के पूर्व नेता घनश्याम तिवाड़ी की पार्टी भारत वाहिनी भी राजस्थान गौरव यात्रा के नाम से यात्रा निकाल रही है। उनकी यात्रा 19 जुलाई से शुरू होगी। भाजपा और भारत वाहिनी द्वारा दोनों यात्रा एक जैसे नाम से निकालना आने वाले वक्त में आरोप-प्रत्यारोप का मुद्दा बन सकता है।

भाजपा ने सुराज गौरव यात्रा का नाम बदलकर राजस्थान गौरव यात्रा इसलिए दिया ताकि प्रदेश की जनता खुद को इससे आसानी से जोड़ सके। भाजपा ने इस यात्रा की रूपरेखा के लिए समिति बना दी है, लेकिन यात्रा का नाम बदले वक्त पार्टी को इस बात का अंदाजा नहीं होगा कि नया नाम उनकी ही पार्टी के विधायक रह चुके घनश्याम तिवाड़ी की पार्टी की यात्रा का भी है।

यह खबर भी पढ़े – वसुंधराराजे की सुराज यात्रा का रोडमैप तैयार…

यह खबर भी पढ़े – वसुंधरा को अपने पुराने सिपाहियों पर भरोसा…

यह खबर भी पढ़े – कांग्रेस बना रही है अपनी ख़ास फौज

Share.