विधानसभा चुनाव में यह होगा ‘आप’ का दांव

0

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव में पहली बार तीसरे मोर्चे के उभरने के संकेत मिलने लगे हैं| प्रदेश में आज तक जहां दो दलों के प्रति ही लोगों का रुझान था, वहां अब तीसरा दल भी राजनीति में इस बार अपनी दस्तक दे सकता है| यदि मध्यप्रदेश में तीसरा दल उभरता भी है तो वह कौन सा दल होगा, इसे लेकर भी अब मंथन शुरू हो गया है|

कयास ये भी हैं कि इस बार प्रदेश में समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और आम आदमी पार्टी में से भी कोई दल कुछ सीटों पर बाज़ी मार सकता है| इनमें से जो भी दल ज्यादा सीटें जीतेगा, निश्चित रूप से ही वह प्रदेश के तीसरा दल होगा और आने वाले 5 सालों तक सरकार की नाक में दम करेगा|

इस बार विधानसभा चुनाव में प्रदेश की सभी 230 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर चुकी आम आदमी पार्टी इस बार बड़ी जीत का दावा कर रही है| ऐसे में आम आदमी पार्टी को लेकर राजनीतिक विश्लेषक 4 से 5 सीटों का अनुमान लगा रही है| अभी तक मध्यप्रदेश की विधानसभा में इतना ज्यादा किसी भी तीसरे दल का वर्चस्व नहीं रहा है| ऐसे में यदि आम आदमी पार्टी को इतनी सीटें मिलती हैं, तो ये एक बड़ी जीत होगी|

‘आम आदमी पार्टी’ के संयोजक अरविंद केजरीवाल भी 15 जुलाई को इंदौर में एक बड़ी सभा को संबोधित करेंगे| इसका लक्ष्य मालवा-निमाड़ की सीटों पर ‘आप’ को स्थापित करना है, लेकिन इस क्षेत्र में ‘आप’ के पास कोई बड़ा चेहरा नहीं है| वहीं दूसरे क्षेत्रों में भी ‘आप’ का वर्चस्व सीमित सीटों तक है, लेकिन यहां भी जीत के आसार कम ही हैं|

ऐसे में अब देखना होगा कि मध्यप्रदेश में अपनी राजनीतिक जमीन तलाश रही ‘आम आदमी पार्टी’ को इस चुनाव में कितनी सफलता मिलती है|

-पॉलिटिकल डेस्क

Share.