सत्ता की सबसे बड़ी नेता ने कहा…लहर विरोधी है

0

प्रदेश में विधानसभा चुनाव में जहां एक ओर भाजपा ‘अबकी बार, 200 पार’ का नारा दे रही है वहीं भाजपा खेमे की ही सबसे बड़ी नेता के एक बयान ने सियासी पारे को चढ़ा दिया है। मालवा क्षेत्र की कद्दावर नेता और लोकसभा स्पीकर ने मतदान के ठीक बाद जो बयान दिया, उसने सभी नेताओं की चिंता बढ़ा दी है।

एमपी में मतदान के बीच लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि  राज्य में सरकार के खिलाफ एंटी इन्कमबंसी हो सकती है।

महाजन ने कहा कि राज्य में बीजेपी सरकार के खिलाफ कुछ हद तक एंटी इन्कमबेंसी हो सकती है क्योंकि सभी काम नहीं हो सकते हैं। कुछ काम रह जाते हैं। शिवराज को लेकर लोगों के मन में अच्छा भाव है, शिवराज के खिलाफ कोई भी नहीं है। उन्होंने कहा कि मुकाबला सिर्फ इतना है कि आंकड़ा कम न हो जाए।

उन्होंने कहा कि इंदौर काफी अहम क्षेत्र है| यही कारण है कि यहां टिकट वितरण में देरी हो जाती है, क्योंकि टिकट दिल्ली से तय होता है। लोकसभा स्पीकर ने कहा कि हमेशा ऐसा लगता है कि कहीं फर्स्ट क्लास आने वाला लड़का सेकंड न आ जाए। उन्होंने कहा कि मुकाबला सिर्फ इतना है कि कहीं 2-4 सीटें कम न हो जाएं। हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि किसान नाराज़ नहीं है, इस बार भी शिवराज की सरकार बनना तय ही है।

सुमित्रा महाजन का यह बयान इसलिए भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि इस चुनाव में उनकी भूमिका ज्यादा खास नहीं रहीं। इसी कारण टिकट वितरण के समय भी ताई जब नाराज़ हुईं थीं तो उन्हें मनाने के लिए खुद भाजपा के बड़े नेताओं को इंदौर आना पड़ा था। वहीं बेटे को टिकट दिलवा पाने के मामले में भी महाजन को निराशा ही हाथ लगी थी।

Share.