सुप्रीम कोर्ट : बैलेट पेपर से चुनाव करवाने की मांग खारिज

0

देश के पांच राज्यों में चुनाव होने वाला है, जिसे लेकर आज यानी गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया| दरअसल, शीर्ष न्यायालय ने बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग को ख़ारिज कर दिया| यह आदेश विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखकर दिया गया है|  इस मामले में मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की पीठ ने फैसला सुनाया|

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने कहा, “हर मशीन में दुरुपयोग की संभावना बनी रहती है और हर सिस्टम पर संदेह जताया जा सकता है| चुनाव में बैलेट पेपर इस्तेमाल करने की याचिका स्वीकार करने योग्य नहीं है|” इतना कहकर ही उन्होंने याचिका खारिज कर दी|

गौरतलब है कि देश में पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं| वहीं आने वाले साल में विधानसभा चुनाव भी होने वाला है| इसे लेकर ईवीएम की जगह बैलेट पेपर के जरिये मतदान करवाने संबंधी आदेश चुनाव आयोग को जारी करने को लेकर याचिका दायर की गई थी| इसके पहले कई राजनीतिक दल चुनाव में हार का सामना करने पर ईवीएम की विश्वसनीयता पर सवाल उठा चुके हैं| नेताओं का आरोप रहता है कि ईवीएम से छेड़छाड़ की जा सकती है|

उत्तरप्रदेश में पिछले साल विधानसभा चुनाव परिणाम आने के बाद बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने भी ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगाया था| वहीं वर्ष 2017 में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने ईवीएम के बजाय मतपत्रों के इस्तेमाल की मांग की थी, जिसके बाद विरोध के कई स्वर सुनाई दिए थे| एक के बाद एक कई राजनीतिक पार्टियों ने चुनाव में ईवीएम पर रोक लगाने की मांग की थी|

Share.