सोशल मीडिया पर तीसरा मोर्चा कमजोर…

1

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा और कांग्रेस के बीच सोशल मीडिया पर घमासान शुरू हो गया है। दोनों ही पार्टियों के पास सोशल साइट्स एक्सपर्ट की टीम पार्टी के विचारों को काफी तेज़ी से फैला रही है, लेकिन दोनों ही पार्टियों को टक्कर देने के लिए कोई भी तीसरा मोर्चा आगे नहीं है। सोशल मीडिया में सक्रियता के मामले में तीसरा मोर्चा घुटने टेकता दिख रहा है।

बहुजन समाज पार्टी, समाजवादी पार्टी, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी और जनता दल यूनाइटेड की सोशल मीडिया पर सक्रियता ही नहीं है। सिर्फ आम आदमी पार्टी ही ट्विटर और व्हाट्सएप पर सक्रिय है। भाजपा ने जहां अपने सभी नेताओं से सोशल मीडिया पर अधिक से अधिक एक्टिव होने के लिए कहा है। वहीं कांग्रेस भी सोशल साइट्स पर सक्रिय है। दोनों ही पार्टियों ने अपने आईटी सेल भी गठित कर दिए हैं।

सोशल मीडिया की ज़रूरत नहीं

बसपा के प्रदेश प्रभारी रामअचल राजभर ने कहा कि वे स्वयं लगातार दौरे कर रहे हैं। सीधे जनता से मिल रहे हैं। ऐसे में सोशल मीडिया की क्या ज़रूरत है। उन्होंने कहा कि बसपा बहुत अनुशासित पार्टी है और सोशल साइट्स पर कुछ भी पोस्ट नहीं करती है।

आप की टीम

पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष आलोक अग्रवाल के साथ अन्य पदाधिकारी भी सोशल साइट्स पर सक्रिय हैं। पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी सचिन श्रीवास्तव ने इसके लिए अलग से टीम बनाई है।

यह खबर भी पढ़े – चुनाव करवाने में अफसरों की हुई परीक्षा

यह खबर भी पढ़े – कांग्रेस का हिसाब दो अभियान शुरू!

यह खबर भी पढ़े – शिवराज के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव

Share.