वसुंधरा के खिलाफ सरपंचों ने खोला मोर्चा

0

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधराराजे की राजस्थान गौरव यात्रा शुरू होने से पहले ही परेशानी से घिर गई है। राजस्थान सरपंच संघ ने वसुंधरा सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सरपंचों ने अपनी 21 सूत्रीय मांगों को लेकर सीएम को ज्ञापन सौंपा है। सरपंच संघ ने राजस्थान गौरव यात्रा का विरोध करने की भी चेतावनी दी है।

राजस्थान सरपंच संघ के प्रदेश सचिव हेमराज शर्मा ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा है कि सरकार के पास तीन दिन का समय है। यदि सरकार हमारी मांगों पर सहमति नहीं बनाती है तो आगामी विधानसभा चुनाव और सीएम की राजस्थान गौरव यात्रा का विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।

हेमराज ने कहा कि पांच वर्ष होने के बाद भी प्रदेश सरकार ने हमारी मांगें नहीं मानी हैं। यहां तक कि मुख्यमंत्री ने हमें मिलने का समय तक नहीं दिया। उन्होंने आगे कहा कि मौजूद सरकार में तीन मंत्रियों के पास यह विभाग रहा है, लेकिन एक भी मंत्री ने सरपंचों की मांगों पर ध्यान नहीं दिया।

राजस्थान सरपंच संघ ने चेतावनी दी कि यदि सरकार ने मांगों पर सहमति नहीं दी तो आगामी चुनावों में विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। साथ ही सीएम की यात्रा का विरोध भी किया जाएगा। संघ का कहना है कि सरपंचों का ग्रामीण क्षेत्रों में अहम रोल होता है। ऐसे में सरकार को हमारी मांगों पर निर्णय लेने के लिए विचार करना होगा।

राजस्थान सरपंच संघ की प्रमुख मांगें –

– ग्राम पंचायत में पूर्व की भांति चेक साइन अथॉरिटी सरपंचों को दी जाए।

– जयपुर में ठहरने के लिए पंचायती राज धर्मशाला की व्यवस्था की जाए।

– खाद्य सुरक्षा योजना का लाभ पहले की तरह सभी पात्र परिवारों को दिया जाए।

यह खबर भी पढ़े – वसुंधराराजे की सुराज यात्रा का रोडमैप तैयार…

यह खबर भी पढ़े – सीपी जोशी को सीएम बनाने की मांग

यह खबर भी पढ़े – वसुंधरा ने बदला अपनी यात्रा का नाम…

Share.