सपाक्स ने चुनाव से पहले खेला बड़ा दांव

2

सपाक्स ने मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है। सपाक्स ने अब मप्र में अपनी ताल ठोकना शुरू कर दी है। सपाक्स की नज़र अब युवाओं पर है। सपाक्स ने विक्की शर्मा पर दांव खेला है। विक्की शर्मा को सपाक्स ने विद्यार्थी संगठन का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया है। विक्की शर्मा तब सुर्खियों में आए थे, जब सीएम शिवराजसिंह चौहान के सामने आरक्षण को लेकर सवाल किया था।

क्या था मामला

स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा छू लो आसमां अभियान के तहत 21 मई को राजधानी में कार्यक्रम आयोजित किया गया था। जब सीएम शिवराजसिंह चौहान छात्रों से संवाद कर रहे थे, तभी 12वीं पास छात्र विक्की शर्मा ने लैपटॉप वितरण योजना पर सवाल खड़े कर दिए। विक्की ने कहा कि हमारे साथ पढ़ने वाले आरक्षित वर्ग के छात्रों के 75 प्रतिशत अंक आने पर लैपटॉप मिलेगा, लेकिन सामान्य वर्ग के छात्रों के लिए 85 प्रतिशत अंकों की पात्रता क्यों रखी गई। विक्की के इस सवाल पर सीएम चौंक गए थे। बाद में सरकार ने नियम बदलकर 75 प्रतिशत अंक लाने वाले छात्रों को भी लैपटॉप देने का फैसला किया|

क्या है सपाक्स

यह सामान्य, पिछड़ा एवं अल्पसंख्यक वर्ग अधिकारी कर्मचारी संस्था मध्यप्रदेश के अधिकारियों कर्मचारियों का संगठन है। इसका मुख्य उद्देश्य समाज में समता लाने, समान नागरिक कानूनों की मांग कर जातिवाद के जहर से शासन और विभागों में काम कर रहे शासकीय कर्मियों के हितों की लड़ाई लड़ना है।

यह खबर भी पढ़े – शिव-कमल के चक्कर में फंस गए नंदी

यह खबर भी पढ़े – इंदौर में दिग्गी ने नेताओं को खाना खिलाकर समझाया

यह खबर भी पढ़े – मैनेजमेंट गुरु का सहारा लेगी कांग्रेस

Share.