जयपुर में सचिन पायलट की पदयात्रा

0

राजस्थान चुनाव में 6 महीने से भी कम वक्त बचा है। पार्टियों ने जीत के लिए अपना-अपना प्रचार करना शुरू कर दिया है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने जयपुर में पदयात्रा निकाली। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला किया।

पदयात्रा के दौरान उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी की रैलियों में हुई फिजूलखर्ची के खिलाफ राज्यपाल कल्याणसिंह के नाम ज्ञापन भी सौंपा। हालांकि राजभववन से पहले ही सिविल लाइन फाटक पर पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को रोक दिया।

बारिश ने की रुकावट

पैदल मार्च के दौरान मौसम भी बिगड़ा, काफी तेज़ बारिश हुई, लेकिन बारिश के बीच कांग्रेस कार्यकर्ता नहीं रुके। पायलट के नेतृत्व में बारिश में भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पैदल मार्च जारी रखा। पैदन मार्च सिविल लाइन फाटक पहुंचा, जहां सभा का आयोजन हुआ। सभा को कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट और जयपुर शहर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रतापसिंह खाचरियानास ने संबोधित किया।

लोकतंत्र का काला इतिहास

सचिन पायलट ने पीएम पर आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य की मशीनरी का उपयोग कर 7 जुलाई को जिस तरह से भीड़ जुटाई गई, वह लोकतंत्र में एक काला इतिहास है। पीएम की रैली में योजना के लाभार्थियों को जयपुर लाने के नाम पर करोड़ों रुपए खर्च कर दिए, जबकि उनमें से आधे भी लाभार्थी नहीं थे। भाजपा अपने कार्यकर्ताओं को सरकारी पैसे से जयपुर लेकर आई और पीएम ने उन लोगों के सामने गलत बयानबाजी की है।

श्वेत-पत्र की मांग

कांग्रेस ने जयपुर में पीएम की रैली पर हुए खर्च का श्वेत-पत्र जारी करने की भी मांग की। सचिन पायलट ने आगे कहा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित हो गए हैं, तब कम से कम प्रधानमंत्री को आकर देखना चाहिए कि सही में खरीद हो रही है या नहीं।

जिला अध्यक्ष प्रतापसिंह खाचरियावास ने कहा कि पूरे राजस्थान में गरीबों को राशन, पेंशन और ईलाज नहीं मिलने से गरीब और मध्यमवर्गीय परिवार काफी परेशान हैं। यदि 15 दिन में प्रदेश में राशन, पेंशन और मुफ्त दवा की पूरी व्यवस्था नहीं की तो शहर कांग्रेस सीएम निवास का घेराव करेगी।

Share.