राजस्थान चुनाव :  सचिन की असली परीक्षा शुरू

0

राजस्थान विधानसभा चुनाव में टोंक सीट चर्चा का विषय बन गई है। कांग्रेस ने 20 वर्ष बाद किसी हिंदू उम्मीदवार को मैदान में उतारा है। वहीं भाजपा ने रणनीति बदलते हुए यूनुस खान को उतार दिया है। भाजपा ने इससे पहले यहां से मौजूदा विधायक अजीतसिंह मेहता को प्रत्याशी बनाने की घोषणा की थी परंतु कांग्रेस ने जब मुस्लिम बहुल टोंक सीट से सचिन को उतारने की घोषणा की तो भाजपा ने अपना प्रत्याशी बदलकर यूनुस खान को उतार दिया। वसुंधराराजे सरकार में कद्दावर मंत्री रहे यूनुस खान इस समय डिडवाना से विधायक हैं।

टोंक का समीकरण ?

टोंक विधानसभा क्षेत्र मुस्लिम बहुल है। यहां पर 40 हज़ार से ज्यादा मुस्लिम मतदाता हैं। 30 हज़ार के करीब गुर्जर, 35 हज़ार अनुसूचित जाति और 15 हज़ार माली जाति के मतदाता हैं। कांग्रेस हमेशा से यहां पर मुस्लिम समुदाय से आए नेता को टिकट देती है और भाजपा आरएसएस से आए नेता को मैदान में उतारती है।

टोंक का इतिहास ?

कांग्रेस टोंक-सवाई माधोपुर लोकसभा सीट का चुनाव हार चुकी है। यहां से मोहम्मद मो. अजहरुद्दीन को टिकट दिया गया था। मुस्लिम प्रत्याशी होने के बावजूद भाजपा के प्रत्याशी गुर्जर नेता सुखबीर सिंह जौनपुरिया से हार गए थे। इस समीकरण को देखते हुए इस बार सचिन पायलट को कांग्रेस ने मैदान में उतार दिया है। लेकिन यूनूस खान राजस्थान के नेता हैं और उनकी पैठ भी है। वह मोहम्मद अजहरुद्दीन की तरह बाहरी नहीं हैं।

Share.