राजस्थान चुनाव : हवामहल सीट पर बगावती सुर

0

राजस्थान की हवामहल विधानसभा सीट पर भाजपा का कब्जा रहा है। 2008 के चुनाव में कांग्रेस के बृजकिशोर शर्मा ने यहां से भाजपा के दिग्गज नेता भंवरलाल शर्मा की बेटी मंजू शर्मा को हराया था। इस बार कांग्रेस और भाजपा दोनों को ही बगावती सुर का डर सताने लगा है। कांग्रेस ने बृजकिशोर शर्मा को टिकट न देकर महेश जोशी को मैदान में उतारा है। वहीं भाजपा ने सुरेंद्र पारीक को मैदान में उतारा है। सीट से नामांकन दाखिल करने वाले करीब एक दर्जन उम्मीदवार हैं। ऐतिहासिक धरोहर हवामहल के नाम से बनी इस विधानसभा सीट का इतिहास देखें तो 1957 से 2013 के चुनाव में भाजपा ने 7 बार जीत अपने नाम की, जबकि कांग्रेस इस सीट पर 2 बार ही जीत हासिल करने में सफल रही।

भंवरलाल शर्मा पांच बार विधायक

भाजपा के दिग्गज नेता भंवरलाल शर्मा इस सीट से पांच बार और एक बार जेएनपी से विधायक रहे हैं। 2013 के चुनाव में इस सीट से भाजपा के सुरेंद्र पारीक ने कांग्रेस के बृजकिशोर शर्मा को 12 हजार 715 वोटों से हराया था। इस बार कांग्रेस के बृजकिशोर शर्मा यहां से टिकट मांग रहे थे, परंतु कांग्रस ने बृजकिशोर की जगह पूर्व सांसद महेश जोशी को मैदान में उतारा। 2008 के चुनाव में भी जोशी यहां से टिकट मांग रहे थे, परंतु कांग्रेस ने नहीं दिया था। 1972 में एक बार जयपुर के पूर्व सांसद गिरधारीलाल भार्गव भी यहां से विधायक रहे। भाजपा के सुरेंद्र पारीक पहले भी विधायक रह चुके हैं।

नामांकन भरने वाले उम्मीदवार

भाजपा से सुरेंद्र पारीक, कांग्रेस के महेश जोशी, भारत वाहिनी पार्टी से विमल अग्रवाल, बसपा से तारिक, आप से कय्यूम इब्राहीम अब्बास, एनपीएफ से कमलेश। इसके अलावा निर्दलीय प्रत्याशी विनोद, गिरिराज गुर्जर,अब्दुल सलाम, आबिद अहमद, पूरण मीना और योगेश शर्मा ने अपना नामांकन दाखिल किया।

Share.