राजस्थान विधानसभा के मानसून सत्र का आगाज़

0

वसुंधरा सरकार के कार्यकाल के अंतिम विधानसभा सत्र का बुधवार से आगाज़ हुआ। 14वीं विधानसभा के अंतिम मानसून सत्र के पहले दिन सदन की कार्रवाई शुरू हुई। मानसून सत्र की शुरूआत में ही विधायक हनुमान बेनीवाल ने हंगामा किया। इस बीच विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने बेनीवाल को शांति बनाए रखने और बैठने के निर्देश दिए। मेघवाल ने कहा कि नए सत्र का आज पहला दिन है। वे किसी सदस्य के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करना चाहते इसलिए हंगामा न करें।

सदन में दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि दी गई। पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी और लोकसभा स्पीकर रहे सोमनाथ चटर्जी सहित करीब 18 नेताओं को 2 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई। साथ ही केरल में आई बाढ़ में मारे गए लोगों को भी श्रद्धांजलि दी गई।

सदन में गत दिनों लाए पांच अध्यादेशों को सदन के पटल पर रखा गया। सदन में कुल 15 विधेयक और संशोधन विधेयक को पुनर्स्थापित किया गया, जिसके बाद सदन की कार्यवाही गुरुवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।

पटल पर इन अध्यादेशों को रखा गया

– राजस्थान मूल्य परिवर्तित कर संशोधन विधेयक 2018

– राजस्थान स्टांप संशोधन अध्यादेश 2018

– जयपुर जल प्रदाय सीवरेज बोर्ड अध्यादेश 2018

– जगद्गुरु रामानंदाचार्य राजस्थान संस्कृत संशोधन अध्यादेश 2018

ये विधेयक पुनर्स्थापित किए गए

– राजस्थान लोकायुक्त उपलोकायुक्त संशोधन विधेयक 2018

– राजस्थान विधानसभा अधिकारियों व सदस्यों की (परिलब्धियां एवं पेंशन संशोधन) विधेयक 2018

– राजस्थान माल एवं सेवा कर संशोधन 2018

– राजस्थान पंचायती राज संशोधन विधेयक 2018

– श्याम विश्वविद्यालय लालसोट दोसा विधेयक 2018

– अपेक्स विश्वविद्यालय जयपुर विधेयक 2018

– डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन आयुर्वेद विश्वविद्यालय जोधपुर संशोधन विधेयक 2018

– राजस्थान निजी विश्वविद्यालयों की विधियां संशोधन विधेयक 2018

– लॉड्स विश्वविद्यालय अलवर विधेयक 2018

– श्री कुशालदास विश्वविद्यालय कालीबंगा विधेयक 2018

– राजस्थान संशोधन विधेयक 2018

Share.