website counter widget

राहुल के हाथ में पायलट और गहलोत की किस्मत

0

राजस्थान में चुनाव के नतीजे सामने आने के बाद कांग्रेस में राजस्थान मुख्यमंत्री पद के लिए खींचतान शुरू हो गई है। अशोक गहलोत और सचिन पायलट के समर्थक आपस में भिड़ चुके हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री पद के लिए फैसला कांग्रेस आलाकमान के हाथ में सौंप दिया गया है। कल जयपुर में विधायक दल की बैठक की गई और बैठक में सभी विधायकों से लिखित रूप से राय लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को सौंपी गई।

इस बैठक में एक प्रस्ताव बना कि राजस्थान मुख्यमंत्री पद की घोषणा राहुल गांधी करेंगे। इस प्रस्ताव के बाद मुख्यमंत्री पद के दोनों दावेदारों, अशोक गहलोत और सचिन पायलट को राहुल गांधी ने दिल्ली बुलाया है। पायलट और गहलोत सुबह ही दिल्ली पहुंच चुके हैं। राहुल दोनों से चर्चा करने के बाद मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा करेंगे।

गौरतलब है कि प्रस्ताव के बाद एक-एक विधायक से फ़ोन पर गहलोत और पायलट के संबंध में फीडबैक भी लिया गया। इस फीडबैक की रिपोर्ट राज्य के पर्यवेक्षक केसी वेणुगोपाल ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को सौंप दी है। खबर सामने आई है कि मुख्यमंत्री पद के लिए नाम की घोषणा में प्रियंका गांधी भी राहुल की मदद कर रही हैं। दोनों के समर्थकों में गहमागहमी जारी है। जयपुर कांग्रेस कार्यालय के बाहर कल से ही दोनों के समर्थक नारेबाजी कर रहे हैं।

इससे पहले अशोक गहलोत, सचिन पायलट, केसी वेणुगोपाल और अविनाश पांडे ने राज्यपाल से मुलाकात कर राजस्थान में सरकार बनाने का दावा पेश किया, लेकिन मुख्यमंत्री पद के लिए नाम तय नहीं हुआ। इसके बाद बैठक कर नाम की जिम्मेदारी राहुल गांधी को सौंप दी गई। आज दिल्ली में राहुल गांधी पायलट और गहलोत से मुलाक़ात के बाद मुख्यमंत्री पद के लिए नाम की घोषणा करेंगे।

अभी से सिर चढ़ा जीत का घमंड

पत्तों की तरह बिखरी वसुंधरा कैबिनेट…

जीत के बाद कुर्सी के लिए लड़ाई

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.