टिकट के लिए ज़ोर-आजमाइश शुरू

0

राजस्थान विधानसभा चुनाव करीब 6 महीने बाद होने हैं, लेकिन कांग्रेस में टिकट के दावेदारों ने अभी से जोर-आजमाइश शुरू कर दी है। बता दें कि अभी तक न तो स्क्रीनिंग कमेटी बनाई गई और न ही चुनाव अभियान समिति। स्क्रीनिंग कमेटी की घोषणा अगले माह होने की उम्मीद है। इसके बाद उम्मीदवार चयन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

एक सीट पर 15 से 20 दावेदारी

कांग्रेस में स्क्रीनिंग कमेटी बनने से पहले ही उम्मीदावर मैदान में उतर गए हैं। कांग्रेस के हर कार्यक्रम में टिकटों की दौड़ साफ देखी जा रही है। हर सीट पर इस बार औसतन 15 से 20 नेता अपनी दावेदारी जता रहे हैं। टिकटार्थी नेताओं ने बायोडाटा बनाने से लेकर सोशल मीडिया तक पर प्रचार शुरू कर दिया है। यहां तक की कई टिकटार्थी राजनीतिक माहौल जानने के लिए सर्वे भी करवा रहे है।

बड़े नेता को साधकर रणनीति

फिलहाल टिकट के दावेदार हर बड़े नेता को साधकर चलने की रणनीति पर चल रहे हैं। टिकटार्थी को किसी एक नेता पर भरोसा नहीं है। इनका मानना है कि क्या पता कौन नेता काम आ जाए और नाराज होने पर वही नेता टिकट न कटवा दे इसलिए वे हर उस नेता, जो टिकट दिलवाने और कटवाने की क्षमता रखता है, से मिलकर हाजिरी अवश्य लगा रहे हैं।

Share.