चुनाव तक चाक-चौबंद रहेंगे पुलिसिया इंतजाम

0

इंदौर जिले में चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से निपटाने के लिए पुलिस ने भी एक्शन प्लान तैयार कर लिया है। पुलिस ने चुनाव के दौरान सभी इंतजामों को लेकर अपने मातहत अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए हैं। एडीजी इंदौर अजय शर्मा और डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र ने जिले में  निष्पक्ष, भयमुक्त एवं पारदर्शी निर्वाचन के लिए इंतजामों को लेकर पुलिस अधिकारियों की बैठक भी ली। व्यवस्थाओं को लेकर डीआईजी हरिनारायणचारी ने बताया कि जिले के सभी विधानसभा क्षेत्रों में पर्याप्त संख्या में पुलिस बल लगाया गया है। केंद्रीय पुलिस बल की अतिरिक्त कंपनियां भी तैनात की जा रही हैं। किसी भी मुश्किल स्थिति के लिए पुलिस बल पूरी तरह से तैयार है। निर्वाचन के दौरान शांति एवं कानून व्यवस्था को भंग करने की किसी भी कोशिश से पुलिस सख्ती से निपटेगी।

डिप्लॉयमेंट प्लान

इंदौर जिले के डिप्लायमेन्ट प्लान के तहत प्रत्येक भवन पर जहां मतदान केन्द्र है, एक वर्दीधारी पुलिसकर्मी तैनात होगा। प्रत्येक बूथ पर एक  विशेष पुलिस अधिकारी तैनात रहेगा। जिन  मतदान  भवनों में 4 या अधिक बूथ एक साथ हैं, उनमें यदि वे क्रिटिकल हैं तो 100  प्रतिशत  जगहों पर केंद्रीय पुलिस बल लगाया गया है। केंद्रीय पुलिस  बल  से  संरक्षित ऐसे  कुल 203 भवन हैं। ग्रामीण क्षेत्र में एकल मतदान केंद्र, जो क्रिटिकल की श्रेणी में हैं,  उनमें आर्म्स गार्ड लगाए गए  हैं। सभी क्रिटिकल एवं वल्नरेबल मतदान केन्द्रों पर वेबकास्टिंग, वीडियोग्राफी एवं सीसीटीवी की व्यवस्था की गई है।

अधिक संवेदनशील मतदान केन्द्रों पर सीएपीएफ (केन्द्रीय सशस्त्र बल) प्लान के अनुसार लगाया गया है। इनमें से 315 पर वेबकास्टिंग, 135  में  वीडियोग्राफी एवं 105 में सीसीटीवी की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा 210 सेक्टर मोबाइल्स, 36-36  एफएसटी  व एसएसटी कार्यरत हैं। जिले में  288  सेक्टर मजिस्ट्रेट जिला  प्रशासन  द्वारा  बनाए गए हैं। जिले में 15क्यूआरटी में केंद्रीय पुलिस बल के 15  हाफ सेक्शंस लगाए गए हैं। आरएएफ की एक  कंपनी स्ट्राइकिंग फोर्स  है। जिले  में  कोई  दूसरे  राज्य  की  सीमा  नहीं लगती। इंदौर से लगने  वाले  मध्यप्रदेश के अन्य 4 जिलों  की  सीमा  पर  कुल 11  नाके बनाए गए  हैं, जिनमें 24 घंटे लगातार 14-14 (कुल154)  का  बल लगाया  गया  है। इस  प्रकार  लगभग 382 अधिकारी, 2500 पुलिस कर्मचारी,  450  होमगार्ड,  2300  विशेष पुलिस अधिकारियों, 16 कंपनी केंद्रीय पुलिस बल, 03 कंपनी एसएएफ का  बल  लगाया गया  है।

प्रशिक्षण संपन्न

इंदौर  जिले के सभी पुलिसकर्मियों को प्री-पोल एवं पोस्टल बैलेट डाले जाने के  संबध  में प्रशिक्षण दिया जा चुका है। एफएसटी व एसएसटी के 72 सदस्यों को प्रक्रिया का प्रशिक्षण और सी-विजिल एप का प्रशिक्षण दिया गया एवं सभी को हिंदी में रीडिंग मटेरियल भी दिया  गया  है। सभी सेक्टर मोबाइल्स का प्रशिक्षण व पोस्टल बैलट प्रशिक्षण  दिया  गया। सभी को हिंदी में भी पठन सामग्री दी गई है। मतदान दिनांक की कार्रवाई के संबंध  में  प्रशिक्षण  कार्यक्रम  तैयार किया  जाकर सब डिवीजन लेवल पर 2500  पुलिसकर्मियों  का  प्रशिक्षण  करवाया  गया  है।

मतदान दिनांक की कार्रवाई के संबंध में 2300 विशेष पुलिस अधिकारियों का प्रशिक्षण दिनांक 24 नवंबर को कराया गया है। जिनकी आर्म्स के साथ  डयूटी लगनी है, उन्हें  वेपन हैंडलिंग प्रशिक्षण दिया गया है। सेक्टर मोबाइल्स को अश्रु गैस व बलवा ड्रिल का प्रशिक्षण  दिया गया है।

Share.