शिव-कमल के चक्कर में फंस गए नंदी

0

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले पार्टियों ने भगवान को अपना हथियार बना लिया है। जहां मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान महाकाल के दर्शन कर जनआशीर्वाद यात्रा पर निकले  वहीं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने महाकाल को सीएम शिवराज की शिकायत वाला पत्र लिखकर भेज दिया।

कमलनाथ का पत्र जहां खूब वायरल हुआ, उसके बाद नंदी ने कमलनाथ को जवाब भी दे दिया। इस बीच नंदी, शिव-कमल के बीच फंस गए हैं। नंदी के जवाब देने पर भोलेनाथ नंदी से नाराज़ हो गए हैं।

दरअसल कमलनाथ और नंदी की चिट्टी के बाद अब भोलेनाथ की चिट्टी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। महाकाल ने अपनी चिट्टी में लिखा है कि नंदी मेरी जानकारी में यह बात आई है कि मेरी अनुमति के बिना आपने कमलनाथ को पत्र लिखा है। नंदी आप बहुत भोले हैं।

आपने पूरे मामले को समझे बिना ही कमलनाथ को पत्र लिख दिया जबकि कमलनाथ खुद कुछ दिन पहले मेरे पास आए थे और मैंने ही उन्हें आशीर्वाद देकर मप्र में कांग्रेस का नेतृत्व करने का आदेश दिया था। पत्र में आगे लिखा है कि नंदी आप जानते हैं कि शिवराज की पार्टी राम मंदिर के नाम पर झूठ बोल रही है। गाय रक्षा के नाम पर लोगों को मारने वालों का स्वागत कर रही है। हिंदुओं को डराकर उनसे वोट लेना चाहती है।

शिवराज के राज में महिलाएं असुरक्षित हैं। किसान आत्महत्या कर रहा है। व्यापारी टैक्स देकर परेशान हैं। कर्मचारी प्रताड़ित हैं। हे नंदी ! अब गुमराह मत हो। शिवराज की विदाई का जनता मन बना चुकी है। हमें जनता और शिवराज के बीच नहीं आना है। इस पत्र में महाकाल का पता कैलाश धाम, उत्तराखंड दिया गया है।

Share.