दिग्गज नेताओं का एक सूत्रीय अभियान

0

मध्यप्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में इस बार दिग्गज नेताओं का एक सूत्रीय अभियान है अपने बेटों को टिकट दिलवाना| सभी बड़े नेताओं की एक ही ख्वाहिश है कि उनके  लाड़ले और होनहार बेटे विधायक बन मध्यप्रदेश विधानसभा की सीढ़ियां चढ़ें और पूरी तरह से राजनीतिक उत्तराधिकारी बनें| इस मिशन में जहां धुरंधर नेताओं ने ऊपरी पकड़ को मजबूती देना शुरू कर दिया है वहीं अपने पिता से राजनीति का कख़ग सीखने वाले युवा नेता अपनी जमीनी पकड़ मजबूत बनाए रखने के लिए अलग- अलग विधानसभा क्षेत्रों में कदमताल कर रहे हैं|

दोनों दलों के नेताओं में छाया है ‘पुत्र’ प्रेम

विधानसभा चुनाव जैसे -जैसे नजदीक आ रहे है, वैसे-वैसे बड़े नेताओं का पुत्र प्रेम एक ही नज़र में झलकता दिखाई दे रहा है| ये सभी नेता राजनीतिक समीकरण बैठाने में जुट गए हैं| कुछ नेताओं के टिकट के समीकरण सटीकता से बैठते भी नज़र आ रहे हैं और उनकी स्थिति भी अनुकूल देखी जा रही है| ऐसे नेताओं में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता महेश जोशी और पूर्व सांसद प्रेमचंद गुड्डू सहित मालवा-निमाड़ अंचल के  अनेक नेता शुमार हैं|

युवा नेताओं ने की तैयारी

जिन दिग्गज नेताओं ने अपने पुत्रों को विधायक बनाने की ख्वाहिश पाली है, उनके अपने बेटों ने भी अपने पिता के सपने को अपनी मेहनत से उम्मीद के पंख लगा दिए हैं| इन नेता पुत्रों में सबसे पहला नाम यूथ कांग्रेस के दीपक जोशी (पिंटू), आकाश विजयवर्गीय और यूथ कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष अजीत बौरासी का शामिल है|

Share.