ये हो सकता है विधानसभा चुनाव का नतीजा

0

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव में वोटिंग से ठीक पहले सट्टा बाजार भी गर्म हो चुका है। लोगों ने वोट भले ही नहीं डाले हो, लेकिन सट्टा बाजार के महारथियों ने अभी से पार्टियों की जीत-हार तय कर दी है।इंदौर के सट्टा बाज़ार में मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ की चुनावी हार-जीत तय हो रही है। देशभर के सटोरियों के दम पर चल रहा ये कारोबार लगभग 20 हजार करोड़ तक जा सकता है। सट्टा बाजार के मुताबिक, मध्यप्रदेश, राजस्थान में कांग्रेस आगे है, वहीं छत्तीसगढ़ में पांच सीटों के अंतर से चुनाव नतीजे भाजपा के पक्ष में हैं।

ये रहेगा सीटों का गणित

कयासों के मुताबिक मध्यप्रदेश में कुल 230 में से कांग्रेस 114-116 सीट पर जीत सकती है। वहीं भाजपा को 101-103 सीट मिलने का अनुमान है। राजस्थान की यदि बात की जाए तो विधानसभा की कुल 200 सीटों में से 127- 129 सीट कांग्रेस, और 54-56 सीट भाजपा को जा रही हैं, जबकि छत्तीसगढ़ में कुल 90 सीटों में से भाजपा 43-45 सीटें तो कांग्रेस 38-40 सीट पर जीत सकती है।

10 पैसे से लेकर डेढ़ रुपए तक भाव

सट्टा बाजार में अलग-अलग भाव नेताओं के नाम पर लगे हुए हैं। यानि यहां नेताओं को मामूली रुपयों में तौला जा रहा है। बाज़ार में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, वसुंधरा राजे, डॉ. रमनसिंह के भाव खुल रहे हैं। बाज़ार में 10 पैसे से लेकर डेढ़ रुपये तक के भाव चल रहे हैं। यानि यहां लोग मंत्रियों, विधायकों को तौल रहे हैं।

पुलिस के हाथ से भी दूर है पूरा खेल

वैसे तो प्रदेश में सट्टा बाज़ार अवैध है, लेकिन बावजूद इसके यह बाज़ार यहां जमकर चलता है। चुनाव के दौरान नेतागिरी के नाम पर लगने वाले सट्टे की तीव्रता में भी वृद्धि होती है। लगातार पुलिस इस तरह की गतिविधियों पर नकेल कसने की तैयारी भी करती है, लेकिन बावजूद सटोरिए पुलिस की पकड़ से दूर है।

Share.