अपने ही घर में उलझे ये स्टार प्रचारक

0

मध्यप्रदेश में राजनीतिक युद्ध अपने आखिरी चरण में दिलचस्प गया था । इस बार राजनीतिक दलों ने अपने स्टार प्रचारकों को चुनावी मैदान में प्रचार के लिए उतार दिया था । कई नेता ऐसे भी थे ,जिनके कंधों पर दूसरी विधानसभाओं में भी प्रचार का जिम्मा था, परंतु वे अपनी ही सीट बचाने में जुटे रहे । कांग्रेस के स्टार प्रचारको की सूची में देश और प्रदेश के कई नेताओं का नाम शामिल है।

इसमें अरुण यादव, सुरेश पचौरी, अजयसिंह, कांतिलाल भूरिया, शोभा ओझा के नाम भी शामिल थे। अरुण यादव बुधनी के चुनाव में ऐसे उलझे कि अपनी सीट बचाने के लिए किसी दूसरे विधानसभा क्षेत्र में जा नहीं पाए। यही हाल सुरेश पचौरी का भी रहा। पचौरी भोजपुर विधानसभा सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी है। अपने जीत का खाता खोलने के लिए पचौरी ने काफी मेहनत की । लिहाज़ा उन्होंने प्रचार के लिए भोजपुर के अलावा किसी दूसरी विधानसभा की तरफ ध्यान ही नहीं दिया। नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह चुरहट से प्रत्याशी हैं, परंतु वे आस-पास के सीटों के अलावा प्रदेश के दूसरे हिस्सों में प्रचार के लिए नहीं गए।

यहीं हाल भाजपा पार्टी का भी है। जहां नरोत्तम मिश्रा अपनी दतिया विधानसभा सीट बचाने में जुटे रहे । कांग्रेस उम्मीदवार राजेंद्र भारती दोबारा उनके सामने हैं। वहीं बसपा उम्मीदवार ने आखिरी वक्त में कांग्रेस में शामिल होकर नरोत्तम की चुनौती बढ़ा दी। पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर अपनी बहू कृष्णा गौर की चुनावी नैया पार लगाने में व्यस्त हैं। यही हाल यशोधरा राजे, माया सिंह का भी है।

अरुण यादव की बुधनी विधानसभा से ग्राउंड रिपोर्ट

मप्र में बिजली खरीदी में भी घोटाला – अरुण यादव

ग्रामीणों के सवालों का जवाब नहीं दे पाए अरुण यादव

 

Share.