शिवराज सरकार पर लगे कई गंभीर आरोप

0

विधानसभा का मानसून सत्र दो दिन में स्थगित करने और अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा नहीं होने के विरोध में कांग्रेस ने समानांतर सत्र शुरू किया, जिसका आज आखिरी दिन है। डमी विधानसभा में विधायक यादवेंद्रसिंह को अध्यक्ष बनाया गया। वे आंखों पर काली पट्टी बांधकर बेंच पर बैठे रहे। कांग्रेस के सभी विधायकों ने भी हाथों में काली पट्टी बांधकर विरोध किया।

ये लगाए आरोप

कांग्रेस विधायक गिरीश भंडारी ने आरोप लगाया कि संसदीय कार्यमंत्री नरोत्तम मिश्रा के इशारे पर ही विधानसभा चली है। उन्होंने नरोत्तम मिश्रा को असंसदीय कार्य मंत्री बताया।

वहीं गुना से कांग्रेस विधायक महेंद्र सिंह सिसौदिया  ने विधानसभा अध्यक्ष की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए।

इस दौरान कांग्रेस विधायकों की सभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने भी विचार रखे। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा मंत्री कुछ छिपाना चाहते हैं इसलिए प्रस्ताव पर चर्चा नहीं करवाई गई। सच्चाई सामने आ जाती इसलिए चर्चा नहीं करवाई । अजयसिंह ने कहा कि सीएम शिवराज ने स्वर्णिम मध्यप्रदेश बनाने की बात की थी, लेकिन कुपोषण बढ़ रहा है| पत्रकारों पर हमले हो रहे हैं, अवैध उत्खनन बढ़ रहा है, फिर भी शिवराज को कोई चिंता नहीं है।

डमी विधानसभा में कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया भी पहुंचे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में हिटलरशाही चल रही है। यहां जनरल डायर के शासन जैसे हालात हैं। प्रदेश की जनता परेशान है।

Share.