मामा भूले अपनी बहनों को…

0

कोलारस का उपचुनाव जीतने के लिए भाजपा ने एड़ी-चोटी का ज़ोर लगा दिया था। उपचुनाव की घोषणा होते ही मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने ऐलान किया था कि सहरिया महिलाओं को पोषण आहार के लिए प्रतिमाह 1000 रुपए दिए जाएंगे। चुनाव से पहले कैबिनेट में प्रस्ताव पास ​हुआ। रातोंरात लिस्ट बनाई गई और अधिसूचना जारी होने से पहले पैसे भी ट्रांसफर कर दिए गए। यह सारा काम बड़ी शीघ्रता से किया गया। इसके बावजूद भाजपा कोलारस का चुनाव हार गई।

इस चुनाव के हारने के बाद शिवराज सिंह अपनी सहरिया की बहनों को भूल गए। महिलाओं को दिए जाने वाले 1000 रुपये बंद कर दिए गए। आदिवासी महिलाएं पैसा न मिलने से काफी परेशान हो रही है। इस बात को लेकर वे कई बार जिम्मेदार अफसरों के कार्यालयों और बैंकों के चक्कर काट रहीं हैं लेकिन इनपर कोई भी ध्यान नहीं दे रहा है।  महिलाओं ने शिकायत की कि शिवराज सरकार ने बड़े ज़ोर-शोर से पैसा देने का ऐलान किया था लेकिन पिछले 4 महीनों से उन्हें पैसा नहीं मिला है।

वहीँ इस विषय में शिवपुरी के आदिम जाति कल्याण विभाग के प्रभारी वीपी माथुर का कहना है कि यह बात सही है कि पिछले चार महीने से पैसा आदिवासियों के खाते में नहीं पहुंच रहा है। इसमें हमारी गलती नहीं है, यह पैसा जनपदों को हम देते हैं, जिसके बाद जनपद पंचायतों को आदिवासियों के खाते में यह पैसा पहुंचाना होता है, वहीं से यह प्रॉब्लम है। खातों की जानकारी जनपद अधिकारी एकत्रित कर रहे हैं।

Share.