अब कांग्रेस का विधानसभा वार चुनावी शंखनाद

0

मध्यप्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी कांग्रेस अब अपने नेताओं और कार्यकर्ताओं को किसी न किसी बहाने सक्रिय करने की कोशिश कर रही है| इसी कड़ी में पार्टी अब विधानसभा वार चुनावी शंखनाद करने जा रही है| इंदौर जिले में पार्टी के जिलाध्यक्ष सदाशिव यादव प्रत्येक ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र  में प्रदेश की भाजपा सरकार को कठघरे में खड़ा कर जवाब दो, हिसाब दो सम्मेलन करने जा रहे हैं| यह सम्मेलन अलग-अलग विधानसभा क्षेत्रों में अलग -अलग दिन 29 अगस्त से 5 सितंबर तक चलेंगे, जिसमें पार्टी के बड़े नेता भी शिरकत करेंगे|

सम्मेलनों का जिम्मा, दावेदारों के पास 

प्रदेश सरकार की रीति- नीति और असफलताओं को उजागर करने और पार्टी में एकजुटता दर्शाने के उद्देश्य से आयोजित इन सम्मेलनों का आयोजन ऊपरी तौर पर जिला कांग्रेस के आव्हान पर किया जा रहा है, लेकिन अंदरूनी स्तर पर सम्मेलनों की कमान सीधे तौर पर उन नेताओं के हाथों में है, जिन्हें आगामी विधानसभा चुनाव में पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ना है|

सम्मेलन को लेकर जिले की राजनीति में गर्माहट

कांग्रेस के ‘ज़वाब दो हिसाब दो’ सम्मेलन से पहले ही जिले की राजनीति में गर्माहट देखी जा रही है| सम्मेलन की तैयारी यूं तो राऊ में जीतू पटवारी, महू में अंतरसिंह दरबार, सांवेर पूर्व विधायक तुलसी सिलावट कर रहे हैं वहीं सबसे ज्यादा घमासान देपालपुर विधानसभा क्षेत्र में देखा जा रहा है| यहां कांग्रेस से  तीन-तीन दावेदार हैं, जो मैदान में है और अलग -अलग सम्मेलन कर रहे हैं| यहां यह सम्मेलन पूर्व विधायक सत्यनारायण पटेल, मोतीसिंह पटेल और एक अन्य दावेदार विशाल पटेल करने जा रहे हैं|

चलेगा शक्ति प्रदर्शन का दौर

जिले की राजनीति में सितंबर माह की शुरुआत शक्ति प्रदर्शन के साथ होगी | इस दौरान सम्मेलन के आयोजक सभी नेता बड़ी भीड़ जुटाने के साथ ही इस कोशिश में हैं कि बड़े नेताओं की मौजूदगी भी सम्मेलन हो, जिससे कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ ही बड़े नेताओं के सामने खुद को मजबूत बताया जा सके | इस मामले में देपालपुर विधानसभा से टिकट की मांग कर रहे पूर्व विधायक सत्यनारायण पटेल, मोतीसिंह पटेल और एक अन्य दावेदार विशाल पटेल के बीच शह और मात का खेल शुरू हो गया है|

Share.