मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बने कमलनाथ

4

दिनभर नेताओं के आने-जाने का सिलसिला चलता रहा। दिल्ली से भोपाल तक खबरें हवा में उड़ती रहीं। दिनभर भूखे प्यासे कार्यकर्ता कांग्रेस कार्यालय के बाहर नारेबाज़ी करते रहे। नव निर्वाचित विधायक भवन में बैठकर अपने नेता का इंतजार करते रहे, लेकिन दिल्ली से प्लेन भोपाल आया शाम को। तब जाकर मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री का चेहरा आखिरकार जनता के सामने आया। 

गुरुवार को दिनभर चली रस्साकशी के बीच शाम को कांग्रेस आलाकमान ने मुख्यमंत्री का नाम तय कर दिया। इसके बाद प्रदेश के विधायकों ने मुख्यमंत्री के नाम पर औपचारिक सहमति दी।

इससे पहले भोपाल और दिल्ली में राजनीतिक उठापठक का दौर देखने को मिला। जहां दिल्ली में मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के नेता राहुल गांधी से मिलते रहे, वहीं भोपाल में कार्यकर्ता भोपाल में कांग्रेस कार्यालय के बाहर अपने नेताओं के समर्थन में नारे लगाते नज़र आए।

यहां कार्यकर्ताओं ने एक ओर कमलनाथ जिंदाबाद के नारे लगाए, तो वहीं कुछ कार्यकर्ता ज्योतिरादित्य सिंधिया के जयकारे भी लगाते नज़र आए। कुल मिलाकर अपने नेताओं को मुख्यमंत्री बनाने की जिद पर दोनों ही गुटों के कार्यकर्ता अड़े रहे। शाम तक फैसला आने से पहले भोपाल में कांग्रेस कार्यालय पर नेताओं और कार्यकर्ताओं की चहलकदमी जारी रही।

पीसीसी कार्यालय के बाहर बना माहौल

भोपाल में प्रदेश कांग्रेस कार्यालय के बाहर कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनने को लेकर जहां सुगबुगाहट चलती रही, वहीं कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा कार्यालय के बाहर कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनने की बधाई के पोस्टर भी लग गए। कार्यकर्ताओं ने लिखा कि, कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनने पर बधाई। वहीं कुछ कार्यकर्ता कांग्रेस कार्यालय के बाहर ज्योतिरादित्य सिंधिया के कट आऊट को हार पहनाकर भी उनके नाम के नारे लगाते नज़र आए।

राहुल भी नाम को लेकर रहे परेशान

मध्यप्रदेश मंे मुख्यमंत्री किसे बनाया जाए इसे लेकर राहुल गांधी भी आखिर तक परेशान रहे। सबसे पहले राहुल गांधी ने कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात की। इसके बाद सोनिया गांधी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने के लिए उनके घर पहुंची। यहां करीब 3 घंटे से भी ज्यादा समय तक चली बैठक में सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने तीनों ही राज्यों के मुख्यमंत्री के नामों को लेकर विस्तृत चर्चा की। बाद में सोनिया गांधी की सहमति के बाद ही नामांे को हरी झंडी दी गई।

नेता, जिनके नाम सीएम की दौड़ में

राहुल ने दी कमलनाथ को मंजूरी, शाम तक ऐलान

राहुल के हाथ में पायलट और गहलोत की किस्मत

Share.