MP : इस सीट के विजेता की बनती है सरकार!

0

मध्यप्रदेश में 28 नवंबर को मतदान है, जिसके लिए तैयारियां जोरों पर है| प्रदेश में चुनाव प्रचार का शोर अब बस शांत होने ही वाला है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि मध्यप्रदेश में एक ऐसी विधानसभा सीट भी है, जिस सीट के विजेता की पार्टी प्रदेश में सरकार बनाती आई है| ऐसा पिछले 38 सालों से होता आ रहा है| अब इस चुनाव के लिए भी कहा जा रहा है कि यह प्रथा बरकरार रहेगी| वहीं कुछ लोगों का कहना है कि यह मिथक है, जो इस साल टूट जाएगा|

बुधनी सीट के विजेता की बनेगी सरकार?

ऐसा माना जाता है कि बुधनी विधानसभा एक ऐसी सीट है, जिस पर विजय प्राप्त करने वाली पार्टी की प्रदेश में सरकार बनती है| ख़ास बात यह है कि प्रदेश के सीएम शिवराजसिंह चौहान इसी सीट से अपना भविष्य आजमा रहे हैं| इस बार कांग्रेस प्रत्याशी के तौर पर दो बार सांसद रह चुके एवं पूर्व उपमुख्यमंत्री सुभाष यादव के पुत्र अरुण यादव  को  सीएम के खिलाफ उतारा गया है|

बुधनी का इतिहास

1980 में कांग्रेस के केएन प्रधान बुधनी विधानसभा से विधायक बने थे और उस समय कांग्रेस की ही सरकार बनी थी| तब अर्जुन सिंह प्रदेश के मुख्यमंत्री बने थे| इसके बाद 1985 में कांग्रेस के ही चौहान सिंह की जीत हुई थी और प्रदेश में फिर कांग्रेस का परचम लहराया था| इसके बाद वर्ष 1990 में भाजपा नेता शिवराजसिंह चौहान इस सीट से जीते थे और उस समय भाजपा की सरकार बनी थी| वर्ष 1993 में कांग्रेस के राजकुमार पटेल बुधनी से विधायक बने और राज्य में दिग्विजयसिंह की सरकार बनी| इसके बाद फिर कांग्रेस के देवकुमार पटेल बुधनी से जीते और दिग्विजय दूसरी बार सीएम बने|

वर्ष 2003 में भाजपा के राजेंद्रसिंह राजपूत ने बुधनी से विजय हासिल की और तब उमा भारती प्रदेश की सीएम बनी थीं| उमा भारती का कार्यकाल लगभग आठ महीने रहा| इसके बाद बाबूलाल गौर  को सीएम बनाया गया| बाबूलाल गौर लगभग एक साल तक सीएम के पद पर रहे फिर शिवराजसिंह चौहान प्रदेश के सीएम बने|

 

29 नवंबर, 2005 को बाबूलाल गौर के स्थान पर शिवराजसिंह चौहान राज्य के मुख्यमंत्री बने थे| इसके बाद वर्ष 2008 में विधानसभा चुनाव हुए, जिसमें भाजपा नेता शिवराजसिंह चौहान बुधनी से जीते, तब भाजपा की सरकार बनी| इसके बाद 2013 में भी भाजपा ही बुधनी से जीती और उसी की प्रदेश में सरकार भी बनी| अब यह देखा जा रहा है कि इस बार भी यह मिथक साबित होता है या नहीं|

मध्यप्रदेश चुनाव : सिर्फ नारों-वादों में दिख रहीं महिलाएं

मध्यप्रदेश चुनाव : भाजपा को कॉपी करेगी कांग्रेस

मध्यप्रदेश चुनाव : पूर्व विधायक की भाजपा में वापसी

Share.