बेटे की जीत के बाद भी प्रतिष्ठा की हार और…

0

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा को करारी हार का सामना करना पड़ा| भाजपा द्वारा चुनाव के नतीजे आने के पहले दावा किया जा रहा था कि उन्हें बड़ी विजय प्राप्त होगी| भाजपा के कई नेताओं ने जीत को लेकर बड़े-बड़े दावे भी किए थे| ऐसा ही कुछ भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने भी कहा था| उन्होंने अपने बेटे की विजय के संबंध में बयान दिया था|

क्या कहा था कैलाश विजयवर्गीय ने ?

कैलाश विजयवर्गीय ने इंदौर 3 विधानसभा सीट अपने बेटे की जीत के लिए कहा था कि यदि आकाश विजयवर्गीय की जीत 15 हजार से कम वोटों से कम हुई तो मैं समझूंगा कि इस शहर की सेवा करने में मुझसे कोई कसर रह गई|

अब क्या कहा ?

अब कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि बेटे आकाश विजयवर्गीय इंदौर 3 विधानसभा सीट से जीत तो गए, लेकिन उनकी प्रतिष्ठा हार गई| गौरतलब है कि जब बेटे को टिकट दिलाने की बारी आई तो सबसे पहले कैलाश विजयवर्गीय ने रमेश मेंदोला की सुरक्षित सीट इंदौर 2 को चुना था| शिवराजसिंह ने इनकार किया तो इंदौर 3 से टिकट मांग लिया| उषा ठाकुर यहां से 13000 वोटों से जीतीं थीं। कैलाश विजयवर्गीय अपने बेटे को 7000 वोटों से जिता पाए|

Video: कैलाश विजयवर्गीय ने दिया नेता पुत्रों को लेकर बयान

सीआईडी ने कैलाश विजयवर्गीय से की पूछताछ

कैलाश विजयवर्गीय ने कहा…

Share.