अनुशासनहीनता पर कमलनाथ सख्त

0

कांग्रेस में लगातार आ रही अनुशासनहीनता पर कमलनाथ ने सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं| प्रदेश में कांग्रेस के बड़े नेताओं के दौरे के दौरान कार्यकर्ताओं द्वारा बदसलूकी की घटनाओं के बाद कमलनाथ ने यह कदम उठाया है| पिछले हफ्ते विदिशा में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया की बैठक में हंगामा करते हुए उनसे बदसुलूकी की थी| इस मामले की जांच के लिए कमलनाथ ने दो सदस्यों की कमेटी गठित की है|

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ ने  वरिष्ठ कांग्रेस नेता पीसी शर्मा और साजिद अली को इस प्रकरण की जांच सौंपी है| यह मामला विदिशा का था, जहां प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया की बैठक में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के दो गुट आमने-सामने हो गए थे| उन्होंने उनके सामने ही एक-दूसरे से गाली-गलौज की थी| कार्यकर्ताओं के बीच झूमाझटकी तक की नौबत आ गई थी| इस दौरान कांग्रेस कार्यालय पर भारी हंगामा देखने को मिला था|

इससे पहले रीवा में भी बाबरिया के साथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बदतमीजी की थी| रीवा में बाबरिया ने बयान दिया था कि मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री पद के दो ही चेहरे हैं एक कमलनाथ और दूसरे ज्योतिरादित्य सिंधिया| पत्रकारों के सवाल के जवाब में बाबरिया ने यह बयान दिया था, लेकिन इस बयान से अजयसिंह समर्थक नाराज़ हो गए थे| इस दौरान झूमा झटकी में कार्यकर्ताओं ने बाबरिया का कुर्ता तक फाड़ दिया था| इसके बाद राहुल गांधी तक इस मामले की शिकायत गई थी|

एक बार शाजापुर में भी पार्टी की बैठक के दौरान बाबरिया के सामने ही कांग्रेस नेताओं के गुटों ने शक्ति प्रदर्शन किया था| कुल मिलाकर प्रदेश में बाबरिया जहां-जहां जा रहे हैं, उनके साथ विवाद भी चल रहे हैं| इसे देखते हुए ही प्रदेश कांग्रेस की चिंता भी बढ़ रही है|

राहुल गांधी ने भी बीते दिनों हुई बैठक में स्पष्ट किया था कि पार्टी में किसी भी तरह की अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी, जिसके बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने यह जांच कमेटी गठित कर मामले में कार्रवाई की है|

Share.