नई टीम के 75 लोग लड़ना चाहते हैं चुनाव

0

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ नवगठित प्रबंध कार्यकारिणी की पहली बैठक में असमंजस में आ गए। उन्होंने बैठक में उपस्थित सदस्यों से पूछा कि कौन चुनाव नहीं लड़ना चाहता, अपना हाथ उठाए| इस पर 85 सदस्यों में से 10 ही ऐसे थे, जिन्होंने चुनाव लड़ने की इच्छा नहीं जताई।

कमलनाथ ने हाथ ऊंचे करने वालों की ओर देखा तो उन्हें पता चला कि कार्यकारिणी के 75 सदस्य चुनाव लड़ने के इच्छुक हैं। उन्होंने कहा कि पहले मैं ये देख लूं कि कौन चुनाव लड़ने वाला है और कौन संगठन में कार्य करेगा उसके बाद ही काम का बंटवारा करूंगा।

अपनी भूमिकाएं तय करें

प्रदेश अध्यक्ष ने कार्यकारिणी के सदस्यों से आग्रह किया कि जिस तरह स्वतंत्रता संग्राम में कांग्रेस ने देश को आज़ादी दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी। उसी तरह प्रबंध कार्यकारिणी के सभी लोग प्रदेश में जनता को भाजपा के कुशासन से मुक्ति दिलाने में जुट जाएं। चुनाव में नज़दीक आते जा रहा है। बिना देरी किए अपनी भूमिकाएं तय कर काम में लग जाएं।

टिकट की जिद छोड़ें

कांग्रेस प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया ने नवगठित प्रबंध कार्यकारिणी के सदस्यों से कहा कि 60 से 65 वर्ष के उम्र वाले नेता जो विधानसभा चुनाव जीते हैं, मंत्री रहे हैं और पिछले चुनाव में हार गए हैं, वे टिकट की जिद छोड़ दें और युवाओं को मौका दें। बता दें कि मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, जुलाई के अंत में कांग्रेस के 70 से ज्यादा विधानसभा सीटों के प्रत्याशी तय हो जाएंगे।

युवाओं को मौका

इधर, चुनाव अभियान समिति अध्यक्ष और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने छतरपुर में कहा कि विधानसभा चुनाव में 30 फीसदी टिकट युवाओं को दिए जाएं। उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस में टिकट दिए जाने का फैसला पार्टी द्वारा करवाए जा रहे सर्वे के बाद लिया जाएगा।

Share.