न्याय में देरी भी अन्याय, मंदिर के लिए जल्द बने कानून- भागवत

0

अयोध्या में लगातार दिनभर चली गहमागहमी के बीच रविवार शाम अयोध्या में राम मंदिर को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत का भी बड़ा बयान सामने आया। उन्होंने कहा है कि समाज केवल कानून से नहीं चलता है। भारत एक लोकतांत्रिक देश है और इसी वजह से राम मंदिर निर्माण की मांग कर रहे हैं।

अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले देश में एक बार फिर राम मंदिर का मामला गरमाया  तो संघ प्रमुख ने भी अपनी बात रखी। अयोध्या में हो रही वीएचपी की धर्मसभा के बीच राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने राम मंदिर को लेकर बड़ा बयान दिया। नागपुर में उन्होंने कहा कि भारत एक लोकतांत्रिक देश है और इसी वजह से लोग राम मंदिर निर्माण की मांग कर रहे हैं।

संघ प्रमुख ने कहा, एएसआई द्वारा की गई खुदाई के दौरान पाया गया था कि वहां पर मंदिर था, जिसे ध्वस्त कर दिया गया। उन्होंने कहा कि यदि राम मंदिर नहीं बनेगा तो वहां पर किसका मंदिर बनेगा। उन्होंने आगे कहा कि भव्य राम मंदिर बनाने की ज़रूरत है।

मोहन भागवत ने कहा कि लगता है कोर्ट की प्राथमिकता में मंदिर है ही नहीं। समाज केवल कानून से नहीं चलता है और न्याय में देरी भी अन्याय के बराबर है। मोहन भागवत ने कहा कि जल्द से राम मंदिर बनाने का कानून पास किया जाए। उन्होंने आगे कहा कि एक बार फिर पूरे देश को राम मंदिर के मामले पर एक साथ आना चाहिए।

भागवत ने सरकार और उच्चतम न्यायालय दोनों से ही इस बारे में अपील करते हुए कहा कि इस ओर जनहित के लिए ध्यान दिया जाए।

Share.