छत्तीसगढ़: बसपा-जनता कांग्रेस के बीच गठबंधन

2

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के लिए पार्टियों ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है। प्रदेश की राजनीति में भाजपा  और कांग्रेस को छोड़ जनता कांग्रेस और बसपा के बीच गठबंधन ने सियासी आग लगा दी है। दोनों पार्टियों के गठबंधन ने भाजपा व कांग्रेस में हलचल पैदा करती है। जनता कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी दोनों ही पार्टियों ने सीटों का बंटवारा कर लिया है। प्रदेश में कुल 90 विधानसभा सीटों में बसपा 35 और जनता कांग्रेस 55 सीटों पर चुनाव लड़ने का समझौता हुआ है। साथ ही सीटें भी तय हो गई हैं।

बसपा के छत्तीसगढ़ प्रभारी लालजी वर्मा ने कहा कि प्रदेश में भाजपा को रोकने के लिए उनकी पार्टी ने जोगी के साथ गठबंधन किया है। इस गठबंधन की सरकार बनी तो अजीत जोगी प्रदेश के मुख्यमंत्री बनेंगे। जनता का प्यार इस गठबंधन को मिल रहा है। हमारी सरकार बनना तय है।

पूर्व सीएम अजीत जोगी ने जब बसपा की 35 सीटों का ऐलान किया तो उन्होंने कहा कि बसपा के संस्थापक कांशीराम ने राजनीतिक सफर जांजगीर जिले से शुरू किया था इसलिए इस जिले की सभी सीटें बसपा को दी है।

इन सीटों पर लड़ेगी बसपा 

भरतपुर-सोनहत, सामरी, लुंड्रा, अंबिकापुर, जशपुर, कुनकुरी, सारंगगढ़, खरसिया, पाली-तानाखार, अकलतरा, जांजगीर चांपा, सक्ती, जैजेपुर, पामगढ़, बिलाईगढ़, कसडोल, रायपुर पश्चिम, रायपुर दक्षिण, बिंद्रानवागढ़, कुरुद, भिलाई नगर, अहिवारा, नवागढ़, डोगरगढ़, डोगरगांव, अंतागढ़, कांकेर, केशकाल, कोंडागांव, दंतेवाड़ा, कोंटा, मस्तूरी, पंडरिया, सरायपाली, रायपुर नगर पश्चिम, रायपुर नगर दक्षिण और चंद्रपुर।

जनता कांग्रेस के उम्मीदवारों को झटका

बसपा को 35 सीटें देने की घोषणा से पहले ही जनता कांग्रेस 45 सीटों पर अपने उम्मीदवार घोषित कर चुकी है। उनमें भरतपुर-सोनहत, नवागढ़, दंतेवाड़ा, कांकेर और जशपुर शामिल है। भरतपुर सोनहत से गुलाब सिंह, नवागढ़ से हरिकिशन कुर्रे, दंतेवाड़ा से जया कश्यप, कांकेर से ब्रह्मानंद ठाकुर और जशपुर से कृपाशंकर भगत को उम्मीदवार बनाया था। अब ये सीटें बसपा के खाते में चली गई हैं।

छत्तीसगढ़: कांग्रेस भवन में घुस पुलिस ने किया लाठीचार्ज

किसका साथ देंगी रेणु जोगी ?

Share.