अरुण यादव समर्थकों ने की नारेबाजी

0

इंदौर शहर कांग्रेस कमेटी के कार्यालय गांधी भवन में अरुण यादव समर्थकों ने जमकर हंगामा मचाया| थोड़ी देर बाद बात हाथापाई तक पहुंच जाती यदि बड़े नेता यादव समर्थकों को नहीं रोकते| हंगामा उस समय अचानक ही बढ़ा, जब कांग्रेस नेता और पार्टी के प्रदेश कोषाध्यक्ष गोविन्द गोयल का भाषण चल रहा था| गोयल ने इशारों-इशारों में अरुण यादव के कार्यकाल पर प्रश्न खड़े कर दिए| यह बात मौजूद यादव समर्थकों को चुभ गई|  गोयल की टिपण्णी से नाराज़ कार्यकर्ताओं ने कार्यक्रम के बीच 20 मिनट से अधिक समय तक हंगामा मचाए रखा| वे तैश में नेताओं को भला-बुरा भी कहने लगे|

रोकना पड़ा कार्यक्रम

गांधी भवन में अरुण यादव समर्थकों के हंगामे के कारण इंदौर शहर कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष बने विनय बाकलीवाल का पदभार ग्रहण समारोह रोकना पड़ा| इस दौरान कार्यालय में अफरा-तफरी का माहौल बन गया| लोग कुर्सियों पर चढ़ गए| इस बीच कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे कार्यकर्ता कार्यालय छोड़कर बाहर चले गए|

हाथ जोड़कर शांत किया नेताओं को

गांधी भवन रैली के रूप में पहुंचे विनय बाकलीवाल का पदभार ग्रहण समारोह प्रारम्भ से ही विवादों में रहा| पार्टी के भीतर फूट और गुटबाज़ी नज़र आई| पार्टी का हर धड़ा कार्यालय पहुंचा, लेकिन गुटों में बंटता नज़र आया| कार्यकर्ता अपने- अपने नेताओं के नाम से नारेबाजी करते रहे| जब विवाद गहराया तो मंच पर मौजूद पार्टी के पर्यवेक्षक ठाकुर सुरेंद्रसिंह ने मोर्चा संभाला और कार्यकर्ताओं के हाथ जोड़कर उन्हें शांत किया| इस दौरान कुछ कार्यकर्ता गोविंद गोयल के पास जाने के लिए प्रयास करते देखे गए| यदि ये कार्यकर्ता पहुंच जाते तो पार्टी कार्यालय में जूतमपैजार की नौबत आ जाती|

यह कहा था गोयल ने

दरअसल, अपने भाषण में गोयल ने कहा कि पिछले चार साल में पार्टी की मजबूती के लिए उतना काम नहीं किया, जितना हमको करना था| इस समय में पार्टी का विकास कम और नेताओं ने स्वयं का विकास ज्यादा किया है| इसी बात से यादव समर्थक गुस्से में आ गए और हंगामा खड़ा हो गया| हालांकि बाद में मीडिया के समक्ष गोयल सफाई देते नजर आए|

Share.