अगर आप मध्यप्रदेश में रहते हैं तो ये खबर पढ़ लीजिए…

0

मध्यप्रदेश में 28 नवंबर को होने वाले मतदान के लिए सोमवार शाम से चुनाव प्रचार थम गया। अब अगले 48 घंटों तक कई ऐसे महत्वपूर्ण कार्य होंगे, जिन्हें प्रदेश के प्रत्येक नागरिकों को याद रखना चाहिए। जैसे इन 48 घंटों के दौरान क्या करें, क्या ना करें।

विज्ञापनों का भी होगा परिक्षण

भारत निर्वाचन आयोग के नियमों के अनुसार अब मतदान से 48 घंटे पूर्व प्रिंट मीडिया में अपमानजनक और भ्रामक विज्ञापनों को रोकने के लिए निर्देश जारी किए गए हैं। 27 एवं 28 नवम्बर को कोई भी अभ्यर्थी, राजनैतिक दल, अन्य संस्था अथवा व्यक्ति समाचार-पत्रों में जिला एमसीएमसी द्वारा पूर्व प्रमाणन कराए बिना राजनैतिक प्रकृति के विज्ञापन प्रकाशित नहीं करवा सकते। आयोग द्वारा यह आदेश भारतीय संविधान की धारा-324 के अन्तर्गत जारी किए गए हैं। इस सम्बन्ध में मध्यप्रदेश के संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी राजेश कौल द्वारा सभी कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारियों को पत्र लिखा गया है।

मतदान के दिन केवल तीन वाहनों की अनुमति

चुनाव लड़ रहे उम्मीदवार मतदान के दिन केवल तीन वाहन का ही उपयोग कर सकेंगे। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा वाहनों के दुरूपयोग को रोकने, निर्वाचन अपराधों को नियंत्रित करने और मतदाताओं को मतदान केन्द्र तक वाहनों से लाने-ले-जाने पर रोक लगाने के लिए ये निर्देश जारी किए गए हैं। जारी निर्देशों में विधानसभा चुनाव लड़ रहे प्रत्येक उम्मीदवार को मतदान के दिन संपूर्ण विधानसभा क्षेत्र में किसी भी प्रकार के दो, तीन या चार पहिया वाहनों में से केवल तीन वाहनों के उपयोग की अनुमति ही होगी।

इसके लिए उम्मीदवारों को तीनों वाहनों के लिए अग्रिम रूप से संबंधित रिटर्निंग अधिकारी या प्राधिकृत अधिकारी से अनुज्ञा पत्र प्राप्त करना होगा।

सामग्री के वितरण पर होगी कार्रवाई

निर्वाचन आयोग ने मतदान दिवस के 72 घंटे पूर्वनिगरानी संबंधी दिशा-निर्देश भी जारी किए हैं। मतदाता को प्रलोभन के लिये किसी भी प्रकार की सामग्री, नगदी वितरण के रोकथाम के लिए निर्वाचन आयोग के उड़नदस्ते लगातार निगरानी करेंगे।

अन्तर्राज्यीय नाकों एवं चैक पोस्ट पर सतत् निगरानी करते हुए अवैध शराब एवं हथियारों की जब्ती एवं परिवहन की रोकथाम की जाएगी। सीमावर्ती जिलों एवं राज्यों से समन्वय स्थापित कर अवैध हथियार, शराब,असामाजिक और हानिकारक तत्वों पर प्रभावी रोकथाम की जाए और 72 घंटे पूर्व सभी अन्तर्राज्यीय सीमाओं को सील किया जाए।

मतदान केंद्रों और मतगणना स्थलों पर मोबाइल प्रतिबंधित

कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी निशांत वरवड़े ने धारा 144 के तहत मतदान केंद्रों और मतगणना स्थल की 100 मीटर की परिधि के अंतर्गत मोबाइल, सेल्यूलर, कार्डलेस फोन तथा वायरलेस सेट आदि के उपयोग को भी प्रतिबंधित किया है। प्रेक्षक, मतदान और मतगणना कार्य में लगे अधिकारी और विधि एवं व्यवस्था संबंधी डयूटी में संलग्न पुलिस कर्मियों पर यह प्रतिबंध लागू नहीं होगा।

किसी अन्य का परिचय पत्र ना रखें

चुनाव के दौरान किसी भी अन्य व्यक्ति का परिचय पत्र भी आम नागरिक अपने पास नहीं रख सकेंगे। यदि ऐसा करते हुए कोई पाया जाता है तो इसे भी नियम विरुद्ध मानते हुए उक्त व्यक्ति पर कार्रवाई की जाएगी।

Share.