भाजपा और संघ के लिए पंचिंग बैग हूं : दिग्विजय

0

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के प्रचार के अंतिम पड़ाव में पहुंचने पर राजनीतिक दलों का एक-दूसरे पर हमला तेज़ हो गया है। कांग्रेस हो या भाजपा दोनों ही दलों ने अपनी-अपनी रणनीति के अनुसार एक-दूसरे को घेरना शुरू कर दिया है। जहां भाजपा लगातार चौथी बार भी सत्ता कायम रखना चाहती है वहीं कांग्रेस भी 15 साल बाद सत्ता में वापसी के लिए पूरा दम-ख़म लगा रही है।

भाजपा ने जो रणनीति तैयार की है, उसी के अनुरूप नरेंद्र मोदी, शाह, सुषमा, योगी और शिवराज अपनी हर सभा में दिग्विजय पर हमला बोलते हैं और 15 सालों के बाद भी उन्हें बंटाढार के नाम से संबोधित करते हैं। लोगों में दिग्गी राजा के प्रति जो आक्रोश है, भाजपा इस बार के चुनाव में भी उसे भुनाना चाह रही है। इसी वजह से भाजपा दिग्विजय से जुड़े विवादों को खूब हवा दे रही है। भाजपा के टारगेट पर खुद को पाकर दिग्विजय सिंह का कहना है कि वह भाजपा और संघ के लिए किसी पंचिंग बैग से कम नहीं है क्योंकि जब भी इन्हें गुस्सा निकालना होता है तो ये मुझ पर ही अपना गुस्सा निकालते हैं।

रणनीति की बात की जाए तो कांग्रेस पार्टी ने भी अपनी रणनीति तैयार कर ली है और कांग्रेस भी इस बात को भली-भांति समझ चुकी है। इसी वजह से पार्टी ने दिग्विजयसिंह को फ्रंट फुट पर नहीं रखा है। भाजपा की रणनीति के खिलाफ काउंटर करने के लिए इस बार के चुनाव में कांग्रेस ने दिग्विजयसिंह को समन्वय की जिम्मेदारी सौंपकर पार्टी को होने वाले डेमेज कंट्रोल को रोकने की जिम्मेदारी दी है। दिग्विजयसिंह भी पार्टी की रणनीति के हिसाब से चल रहे हैं और खुद को फ्रंट पर नहीं रख रहे हैं। हालांकि विपक्ष के हमलों का जवाब देते हुए दिग्विजय ने कहा है कि उनके पास भाजपा और संघ दोनों ही संगठनों की कई कमजोरियां हैं और इसी वजह से दोनों उनसे डरते हैं|

Share.