इस गैंगस्टर की बेटी लड़ सकती है विधानसभा चुनाव

1

राजस्थान विधानसभा चुनाव नज़दीक हैं। भाजपा-कांग्रेस के बीच रस्साकशी जारी है। दोनों ही दल सत्ता तक पहुंचने के लिए पूरी ताकत लगा रहे हैं। वहीं नागौर की डिडवाना विधानसभा सीट कांग्रेस-भाजपा के हाथों से जाने की तैयारी में है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, कुख्यात गैंगस्टर आनंद पाल की बेटी योगिता चौहान डिडवाना से विधानसभा चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही है। योगिता के संकेतभर से भाजपा-कांग्रेस के चुनावी समीकरण बिगड़ सकते हैं। खासतौर पर भाजपा की मुश्किलें बढ़ गई हैं।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सुरक्षा एजेंसी ने राजस्थान सरकार को एक रिपोर्ट सौंपी है, जिसमें आनंद पाल की बेटी के चुनावी मैदान में उतरने के संकेत हैं। योगिता चौहान अगर डिडवाना विधानसभा सीट से चुनाव लड़ती है तो राजनीतिक समीकरण में बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है। इस सीट से भाजपा की मुश्किलें बढ़ती दिखाई दे रही हैं। इसका सबसे बड़ा कारण है राजपूत समाज में भाजपा के प्रति नाराज़गी। गैंगस्टर आनंद पाल के एनकाउंटर के बाद राजपूत समाज भाजपा से काफी आक्रोशित है। आनंद पाल के एनकाउंटर के बाद काफी विरोध-प्रदर्शन भी हुआ।

चुनाव नज़दीक आते जा रहे हैं, लेकिन अब तक भाजपा राजपूत समाज की नाराज़गी को दूर नहीं कर पाई है। इस नाराज़गी का असर डिडवाना विधानसभा सीट पर देखने को मिल सकता है। कहा जा रहा है कि आनंद पाल की बेटी के चुनावी शंखनाद से पहले ही राजपूत समाज का उनको समर्थन मिल सकता है, जिसके बाद डिडवाना सीट पर नए समीकरण बनते दिख रहे हैं।

कौन था गैंगस्टर आनंद पाल ?

– आनंद पाल राजस्थान के नागौर जिले की लाड़नूं तहसील के एक छोटे से गांव का रहने वाला था।

– आनंद पाल पर लूट, वसूली, मर्डर और गैंगवार के करीब 24 मामले दर्ज थे।

– वह लिकर किंग बनना चाहता था।

– अपराध की दुनिया में पहला कदम साल 1966 में रखा। उसने तब डिडवाना में जीवनराम गोदारा की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

– सीकर में हुए गोपाल फोगावट हत्याकांड में भी आनंद पाल का हाथ था। यह मामला विधानसभा में भी उठा था।

– 3 सितंबर 2015 को आनंद पाल को अजमेर सेंट्रल जेल लाया जा रहा था। गैंगस्टर आनंद पाल ने पुलिस वालों को मिठाई खिलाई, जिससे उन्हें नशा हो गया। आगे जाकर उसके साथियों ने पुलिस की गाड़ी रोक दी और गोलियां चलाते हुए उसे भगाकर ले गए। इसमें एक पुलिसकर्मी मारा भी गया था।

– आनंद पाल 24 जून 2017 को एक मुठभेड़ में मारा गया।

अमित शाह का राजस्थान दौरा, वसुंधरा से नहीं होगी मुलाकात

राजस्थान सरकार ने की स्कूली बच्चों के लिए नई पहल

राजस्थान चुनाव: भाजपा ने की चुनाव प्रबंधन समिति की घोषणा

Share.