चुनावी रैलियों के लिए बच्चों के भविष्य से कर रहे खेल

0

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव का शंखनाद हो गया है। भाजपा के विजयरथ को रोकने के लिए कांग्रेस काफी मेहनत कर रही है। भाजपा सरकार को घेरने के लिए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ट्विटर के माध्यम से सवाल कर रहे हैं। अपने 40 दिन 40 सवाल की कड़ी में कमलनाथ ने अपना 30वां सवाल किया। उन्होंने भाजपा सरकार पर रैलियों में बच्चों की भीड़ एकत्रित करने का आरोप लगाया।

कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा कि सरकारी संस्थान के पढ़ते हुए बच्चों को उठाकर रैली की भीड़ में मत सजाइए। उन्हें अपनी घृणित राजनीति का शिकार मत बनाइए। मामा राज में 2004 से 2015 तक 10 हजार 117 बेरोजगार और छात्र आत्महत्या करने को हुए मजबूर, फिर भी कर रहे हो उनका भविष्य चकनाचूर।

उन्होंने लिखा कि चुनाव आयोग ने मोदीजी की शहडोल रैली की की है जांच। भाजपा नेताओं पर आई है एफआईआर की आंच। अब युवाओं की बारी है। 28 नवंबर को मामा सरकार को उखाड़ फेंकने की तैयारी है।

कमलनाथ ने अगले ट्वीट में सोर्स का भी जिक्र किया।

वहीं कमलनाथ ने भाजपा के संकल्प-पत्र को लेकर भी भाजपा को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में बहनों और भांजियों को सबसे ज्यादा सुरक्षित माहौल की आवश्यकता है परंतु 15 वर्ष से सुरक्षा देने में नाकाम भाजपा सरकार, अभी भी सुरक्षा पर ठोस कार्य के बजाय सिर्फ संकल्प-पत्र को ही अपनी उपलब्धि बता रही है।

Share.