किसानों ने खोला विधायकों के खिलाफ मोर्चा

0

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान अपने आप को किसान पुत्र कहते हैं, इसके बावजूद मध्यप्रदेश में किसानों पर अत्याचार कम होने का नाम नहीं ले रहे  हैं। इन सब के बीच किसान आम किसान यूनियन (एकेयू) ने 112 विधायकों के खिलाफ अभियान शुरू कर दिया है।

संगठन से जुड़े किसानों का आरोप है कि अलग-अलग दलों के ये विधायक पिछले पांच वर्ष के दौरान खेती से जुड़े मुद्दों को उठाने में असफल रहे हैं। संगठन के नेता केदार सिरोही ने कहा कि विधानसभा चुनाव से पहले किसान विधायकों से किए गए कार्यों का ब्योरा मांगेंगे। इसके बाद ही किसान अपने वोट का उपयोग करेंगे। उन्होंने कहा कि हमने ग्रामीण क्षेत्रों में आने वाली विधानसभाओं से 112 विधायकों को चुना है, जिन्होंने विधानसभा में किसानों से जुड़े मुद्दों पर एक भी सवाल नहीं किया।

संगठन ने खासतौर पर उन विधायकों पर ध्यान केंद्रित किया है, जो पिछले विधानसभा चुनावों में 5 हजार से भी कम मतों से जीते थे। इन 112 विधायकों में 86 भाजपा के हैं, जबकि 24 विधायक कांग्रेस से हैं। शेष दो विधायक निर्दलीय के तौर पर विजयी हुए थे। सिरोही ने आगे कहा कि हमारे कार्यकर्ता चयनित गांवों में जाकर किसानों से वोट करने से पहले इन बातों को ध्यान में रखने के लिए कहेंगे।

Share.