चुनाव करवाने में अफसरों की हुई परीक्षा

1

छत्तीसगढ़ चुनाव के लिए राज्य के सभी कलेक्टर और करीब 300 एआरओ की लिखित परीक्षा निर्वाचन आयोग ने ली। इस परीक्षा के नतीजों से ही तय होगा कि अफसर चुनावी प्रक्रिया में शामिल करने लायक हैं या नहीं। परीक्षा में फेल होने वाले अफसर चुनाव प्रक्रिया का हिस्सा नहीं बन सकेंगे।

परीक्षा में कुल 300 अधिकारी शामिल हुए। परीक्षा प्रदेश के तीन संभाग मुख्यालयों, रायपुर, बिलासपुर और जगदलपुर में आयोजित की गई।

ये पूरी परीक्षा भारतीय निर्वाचन आयोग की देखरेख में आयोजित की गई, जिसके लिए पर्यवेक्षक दिल्ली से रायपुर पहुंचे थे। वहीं भारत निर्वाचन आयोग की तरफ से ही प्रश्न-पत्र दिल्ली से भेजा गया था। परीक्षा 2 घंटे की आयोजित की गई, जिसमें 50 पश्न वैकल्पिक और लघुउत्तरीय पूछे गए।

परीक्षा के प्रश्न-पत्र में चुनाव प्रक्रिया, नामांकन, कोड ऑफ कंडक्ट, रिटर्निंग अफसरों की जिम्मेदारी, चुनाव को लेकर भारतीय संविधान में उल्लेख सहित उम्मीदवारों के लिए तय किए गये मापदंड, अधिकारों पर सवाल पूछे गए।

बता दें कि इससे पहले कर्नाटक चुनाव में इस तरह की परीक्षा भारत निर्वाचन आयोग ले चुका है। फ्री एंड फेयर इलेक्शन पॉलिसी के तहत निर्वाचन आयोग कर्नाटक के बाद छत्तीसगढ़ में भी इलेक्शन ड्यूटी के लिए अफसरों को परख रहा है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार परीक्षा परिणाम को सार्वजनिक तो नहीं किया जाएगा, लेकिन यह तय है कि परीक्षा परिणाम के आधार पर तय होगा कि अफसरों की चुनाव ड्यूटी में भूमिका क्या होगी।

यह खबर भी पढ़े – सपाक्स ने चुनाव से पहले खेला बड़ा दांव

यह खबर भी पढ़े – भाजपा के मंत्रियों की जीत के लाले

यह खबर भी पढ़े – टिकट के लिए लगा दावेदारों का मेला

Share.