शिवराज के देशद्रोही बयान पर दिग्विजय का पलटवार

0

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह को देशद्रोही कहने के बाद राजनीति में भूचाल आ गया है। पार्टियां एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रही हैं। इस कड़ी में अब पूर्व सीएम दिग्विजयसिंह ने शिवराज को करारा जवाब दिया है।

कौन है देशद्रोही ?

उन्होंने आईएसआईएस एजेंट और पूर्व भाजपा कार्यकर्ता ध्रुव सक्सेना की एक तस्वीर शेयर की है, जिसमें सीएम शिवराज और कैलाश विजयवर्गीय खड़े दिखाई दे रहे हैं। अब दिग्विजय ने शिवराज से सवाल किया है कि देशद्रोही कौन है।

प्रकरण का क्या हुआ

पूर्व सीएम ने ट्वीट कर लिखा है कि शिवराजजी के मंच पर ध्रुव सक्सेना, जो आईएसआई की सेना की गुप्त सूचनाएं भेजता था। देशद्रोही कौन? शिवराज के उस प्रकरण का क्या हुआ, जिसमें आपके कार्यकर्ता आईएसआई के लिए पैसे लेकर काम किया करते थे।

देंगे गिरफ्तारी

सीएम शिवराजसिंह चौहान के आरोप लगाने के बाद पूर्व सीएम दिग्विजयसिंह ने 26 जुलाई को भोपाल के टीटी नगर थाने में गिरफ्तारी देने का ऐलान कर दिया है। दिग्विजयसिंह के तय कार्यक्रम के मुताबिक, वे 26 जुलाई को 12 बजे गिरफ्तारी देंगे और उसी दिन रात को साढ़े नौ बजे राजधानी एक्सप्रेस से झांसी के लिए रवाना होंगे।

भाजपा का आरोप

दिग्विजय के इस कार्यक्रम को लेकर भाजपा ने सवाल खड़े किए हैं। भाजपा का कहना है कि यह कैसी गिरफ्तारी है। उन्होंने पहले से ही झांसी का टिकट ले रखा है। वहीं कांग्रेस ने आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि दिग्विजयसिंह अपने सभी कार्यक्रम रद्द करने को तैयार हैं। सरकार उन्हें गिरफ्तार तो करें। बता दें कि दिग्विजयसिंह के साथ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ और नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह भी गिरफ्तारी देंगे।

कौन है ध्रुव सक्सेना?

बीचे साल  मध्यप्रदेश एंटी टेरेरिज्म स्क्वॉड की टीम ने 11 लोगों को आईएसआईएस से मिले होने के आरोप में गिरफ्तार किया था। ध्रुव सक्सेना उन्हीं में से एक है। आरोपी ध्रुव उस वक्त भाजपा आईटी से जिला संयोजक के पद पर कार्यरत था। उस दौरान एंटी टेरेरिज्म स्क्वॉड की टीम ने ध्रुव सक्सेना के दो ठिकानों पर छापा मारा था। जिसमें एटीएस को लैपटॉप सहित जासूसी करने की कई सामग्री मिली थी। जिसके बाद पुलिस ने ध्रुव सक्सेना को आईएसआईएस और पाकिस्तान को भारतीय सेना की जानकारी देने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया था।

यह खबर भी पढ़े -बसपा-कांग्रेस के गठबंधन पर विजयवर्गीय का तंज

यह खबर भी पढ़े – मैनेजमेंट गुरु का सहारा लेगी कांग्रेस

यह खबर भी पढ़े – मप्र विस चुनाव : इनके कटेंगे टिकट

Share.