वसुंधरा की यात्रा पर फिर संकट के बादल

0

राजस्थान मुख्यमंत्री वसुंधराराजे ने जबसे अपनी राजस्थान गौरव यात्रा की शुरुआत की है, तब से ही उन्हें मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है। हाईकोर्ट ने यात्रा पर सरकारी खर्च को लेकर नोटिस जारी किया है, वहीं कर्मचारी भी जागृति यात्रा निकाल रहे हैं। अब गुर्जर नेताओं ने वसुंधरा राजे की भरतपुर संभाग में गौरव यात्रा का विरोध करने का ऐलान किया है।

गुर्जर आरक्षण आंदोलन के संयोजक कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि राजस्थान गौरव यात्रा का विरोध करेंगे। भरतपुर में यात्रा प्रवेश को रोका जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने 19 मई को हुई समझौता वार्ता का पालन न करते हुए फिर से धोखा किया है।

उन्होंने कहा कि नर्सिग असिस्टेंट, स्टेनोग्राफर और टीचर्स भर्ती के मामले में भी सरकार ने समझौते के अनुरूप पालन नहीं किया है। हाल ही में पटवारियों की निकली भर्ती भी गलत प्रकिया से हुआ। जिसमें पिछड़ा वर्ग को मात्र 1 प्रतिशत सीट मिली। जबकि एक परसेंट के हिसाह से 20 सीटें मिलनी चाहिए थी।

बैंसला ने आगे कहा कि अगर सरकार ने उनकी मांगों को नहीं मानती है तो सीएम की सवाई माधोपुर आने वाली राजस्थान गौरव यात्रा को बनास पुल पर रोक दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सीएम की यात्रा का विरोध किया जाएगा। इसकी तैयारियों में गुर्जर समाज जुट गया है।

यह खबर भी पढ़े- वसुंधरा ने की किसानों के लिए घोषणा…

यह खबर भी पढ़े- राजस्थान गौरव यात्रा पर हाईकोर्ट ने मांगा जवाब

यह खबर भी पढ़े- सांगानेर सीट पर भाजपा नेताओं में खींचतान

Share.