चुनावी साल में आपस में लड़ रहे कांग्रेसी

0

चुनाव नजदीक आते ही  जहां पार्टी कार्यकर्ता एक हो जाते हैं  वहीं इसके विपरीत कांग्रेस में आपसी गुटबाजी खत्म नहीं हो रही है। कांग्रेस कार्यकर्ता अपने ही कार्यक्रम ‘मेरा बूथ, मेरा गौरव’ में आपस में भिड़ गए और आयोजन की हवा निकाल दी।

दरअसल, रविवार को सवाई माधोपुर में ‘मेरा बूथ, मेरा गौरव’ कार्यक्रम था। कार्यक्रम शुरू होने से पूर्व ही कांग्रेस कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। कांग्रेस कमेटी के महासचिव एवं राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे के साथ कार्यक्रम स्थल की ओर जा रहे प्रदेश कांग्रेस सचिव एवं सवाई माधोपुर विधानसभा से कांग्रेस के प्रबल दावेदार दानिश अबरार के साथ न केवल धक्का-मुक्की की गई बल्कि मारपीट तक हो गई।

क्या हुआ

कांग्रेस नेता डॉ.मुमताज व दानिश अबरार के समर्थक गुटों में बंटे हुए हैं। कार्यक्रम में शामिल दोनों नेताओं ने राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे का अलग-अलग स्वागत किया। इस दौरान एक समर्थक ने दूसरे गुट के समर्थक का हाथ पकड़कर नीचे कर दिया। इस पर उसके साथी ने उसे धक्का दे दिया। देखते ही देखते दोनों नेताओं के समर्थकों ने एक-दूसरे पर कुर्सियां और कूलर फेंकना शुरू कर दिए। इस दौरान भगदड़ भी मच गई।

इस सारे घटनाक्रम पर विधि विभाग के कांग्रेस के जिलाध्यक्ष संजय बोहरा ने कहा कि कांग्रेस आलाकमान को गंभीरता से सोचना और निर्णय करना चाहिए। चुनाव से पूर्व ही ये हालात हैं तो क्या कांग्रेस का टिकट सुरक्षित रह पाएगा। उन्होंने इस घटना को बहुत ही शर्मनाक एवं कांग्रेस के लिए काला दिन बताया।

Share.