कांग्रेस ने सत्यव्रत चतुर्वेदी को दिखाया बाहर का रास्ता

0

अपनी ही पार्टी के खिलाफ विवादित बयान देने वाले एक वरिष्ठ कांग्रेसी को पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखाते हुए सख्त कार्रवाई की| नेता कई बार अपनी ही पार्टी के खिलाफ चुनावी मैदान में खुलकर बयानबाजी कर चुके थे| पिछले कई दिनों से पार्टी इस मामले पर विचार कर रही थी| आख़िरकार कांग्रेस के सब्र का बांध टूट ही गया और उन्होंने वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी को विदा कर दिया|

जानकारी के अनुसार, जब से कांग्रेस ने अपनी चुनावी लिस्ट की घोषणा की थी, तब से नेता ने अपनी ही पार्टी के खिलाफ बगावत शुरू कर दी थी| बेटे को टिकट न देने और कांग्रेस स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल किए जाने को लेकर उन्होंने कई बार कांग्रेस पर ही निशाना साधा| पिछले कई दिनों से कहा जा रहा था कि पार्टी उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई कर सकती है| फिलहाल इस बारे में कांग्रेस के नेता बोलने से बच रहे हैं|

कांग्रेस की ओर से टिकट नहीं मिलने पर सत्यव्रत चतुर्वेदी ने अपने बेटे नितिन चतुर्वेदी को छतरपुर के राजनगर विधानसभा से समाजवादी पार्टी की ओर से मैदान में उतारा है| वे अपने बेटे के लिए खुलकर प्रचार-प्रसार भी कर रहे हैं| जब कांग्रेस द्वारा सत्यव्रत को स्टार प्रचारकों में शामिल किया गया था तब उन्होंने कहा था, “कांग्रेस ने मेरे  साथ धोखा किया है, पार्टी ने मुझे सम्मान नहीं दिया| जब मैं अपने बेटे का चुनाव प्रचार कर रहा हूं तो मुझे स्टार प्रचारक बना रहे हैं, ये भांग खाए लोग हैं|”

उन्होंने आगे कहा था, “मैं अपने बेटे नितिन के लिए समाजवादी पार्टी का प्रचार कर रहा हूं, कांग्रेस आलाकमान को अपनी गिरेबान में झांक मेरे ऊपर कार्रवाई करनी चाहिए| बेटे के लिए में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ मंच भी साझा करूंगा|”

Share.