मुख्यमंत्री को लेकर कांग्रेस सचिव का बयान

0

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपने प्रत्याशी की घोषणा नहीं की है, लेकिन हमेशा चेहरे की राजनीति से दूर रहने वाली कांग्रेस अब आने वाले समय में प्रदेश में मुख्यमंत्री के चेहरे पर भी विचार कर रही है| यदि ऐन वक़्त पर जरूरत पड़ी तो कांग्रेस शिवराजसिंह के खिलाफ चेहरा भी खड़ा कर सकती है| कांग्रेस ने एक बड़े नेता के इस बयान ने सियासी हलकों में सरगर्मियां बढ़ा दी हैं|

कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव संजय कपूर ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस का चुनावी चेहरा समय आने पर घोषित किया जाएगा। कपूर ने कहा, “हम प्रदेश में मुख्यमंत्री पद का चुनावी चेहरा हालात को देखते हुए चुनेंगे और सही समय पर इसकी घोषणा करेंगे। सूबे की सत्ता में कांग्रेस की वापसी हमारी प्राथमिकता है।”

कांग्रेस में मुख्यमंत्री पद के चुनावी चेहरे के शीर्ष दावेदारों में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ और चुनाव प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया शामिल हैं| इसके अलावा कई ऐसे चेहरे भी हैं, जो प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने का ख्वाब देख रहे हैं| इनमें वरिष्ठ नेता अजयसिंह और सांसद कांतिलाल भूरिया भी शामिल हैं| वहीं दिग्विजयसिंह को लेकर भी अटकलें हैं, लेकिन वे इस दौड़ से खुद को पहले ही बाहर कर चुके हैं|

आलोचकों का दावा है कि प्रदेश में अलग-अलग गुटों में बंटी कांग्रेस में मुख्यमंत्री पद का चुनावी चेहरा घोषित करने की औपचारिक घोषणा से पार्टी में खींचतान शुरू हो सकती है, जिसका असर पार्टी की चुनावी संभावनाओं पर पड़ेगा। इसे देखते हुए कांग्रेस संगठन फिलहाल चेहरे की राजनीति से बच रहा है, लेकिन देखना होगा कि क्या वाकई चुनाव से पहले अपनी जरूरत के मुताबिक कांग्रेस चेहरे की घोषणा कर सकती है?

Share.