प्रदेश की इस अधिकारी को कांग्रेस देगी टिकट

0

हमेशा अपने आदेशों और सख्त शैली के कारण चर्चाओं में रहने वाली आदिवासी विकास आयुक्त दीपाली रस्तोगी ने अपने एक पत्र के माध्यम से प्रदेश के सरकारी महकमे में हलचल बढ़ा दी है| दीपाली रस्तोगी ने सभी कलेक्टरों को पत्र लिखकर कहा है कि राजनीतिक कार्यक्रमों और यात्राओं पर सरकारी राशि खर्च न की जाए|

बताया जा रहा है कि सरकार से लड़ाई मोल लेने के बाद रस्तोगी के खिलाफ सरकार कार्रवाई भी कर सकती है, लेकिन इस बीच ख़बरें यह भी हैं कि रस्तोगी खुद भी अपनी नौकरी छोड़ सकती हैं| सूत्रों के अनुसार, दीपाली रस्तोगी अपने पद से इस्तीफा देंगी और उसके बाद कांग्रेस आगामी चुनाव में उन्हें टिकट देगी|

रस्तोगी ने कलेक्टरों को पत्र लिखकर कहा है कि यदि किसी भी जिले में प्रशासन द्वारा राजनीतिक कार्यक्रमों में पैसा लगाया गया और उसकी जानकारी विभाग के पास पहुंचती है तो संबंधित अधिकारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी| दीपा रस्तोगी के इस पत्र ने एक बार फिर राजनीतिक कार्यक्रमों में नौकरशाही की सक्रियता को बल दे दिया है|

इससे पहले भी यह आरोप लगते रहे हैं कि राजनेता और जनप्रतिनिधि राजनीतिक कार्यक्रमों के लिए अधिकारियों पर दबाव बनाते हैं| रस्तोगी का यह बयान उस समय आया है, जब प्रदेश में चुनाव जीतने के लिए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ‘जनआशीर्वाद यात्रा’ निकाल रहे हैं| बताया जा रहा है कि इसे पहले भी रस्तोगी ने प्रधानमंत्री के सफाई अभियान को गोरों की नक़ल बताया था|

Share.